Breaking
  • CBI कोर्ट ने पीएनबी धोखाधड़ी मामले में तीनों आरोपियों को 3 मार्च तक पुलिस कस्टडी में भेजा।
  • जम्मू-कश्मीरः मलंगपोरा में आतंकवादियों ने एयरफोर्स स्टेशन पर की गोलीबारी।
  • कानपुर: CBI ने रोटोमैक पेन के मालिक विक्रम कोठारी को लिया हिरासत में।
  • ओडिशा: परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम अग्नि-II मिसाइल का परीक्षण, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • कमल हासन की राजनीतिक पार्टी के लॉन्च में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल होंगे शामिल
  • रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी के आवास पर CBI का छापा अब भी जारी, पढ़ें पूरी खबर -Read More »

छात्रों की अनिवार्य उपस्थिति पर JNU में हंगामा, स्टाफ को बनाया 'बंधक'

  |  Updated On : February 16, 2018 12:30 AM
छात्रों की अनिवार्य उपस्थिति पर JNU में हंगामा, स्टाफ को बनाया 'बंधक'

छात्रों की अनिवार्य उपस्थिति पर JNU में हंगामा, स्टाफ को बनाया 'बंधक'

नई दिल्ली:  

जवाहर लाल यूनिवर्सिटी एक बार फिर छात्रों के प्रदर्शन को लेकर चर्चा में है।

गुरुवार देर रात छात्रों ने प्रशासनिक बिल्डिंग को घेर लिया और कथित तौर पर छात्रों ने जेएनयू प्रशासन के स्टाफ को कैद कर लिया। छात्र हाल ही में लागू किए गए अनिवार्य उपस्थिति (कंपलसरी अटेंडेंस) के फैसले का विरोध कर रहे हैं।

ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) की छात्र नेता गीता ने बताया, 'हमारी मांग थी कि हम जेएनयू वीसी से मिले। हम सुबह से उनका इंतजार कर रहे हैं। हमने कोई गेट ब्लॉक नहीं किया है। हम सिर्फ उनका (वीसी) इंतजार कर रहे हैं। हम चाहते है कि अनिवार्य उपस्थिति का सर्कुलर वापस लिया जाए और एकेडमिक काउंसिल की मीटिंग बुलाई जाए।'

इससे पहले जेएनयू के वीसी डा. एम जगदेश कुमार ने ट्विट कर कहा, 'जेएनयूएसयू के नेतृत्व में छात्रों ने जेएनयू एडमिन बिल्डिंग में वरिष्ठ अधिकारियों को सुबह 11 बजे से घेर रखा है। जब उन्होंने बाहर निकलने की कोशिश की तो छात्रों ने नारेबाजी करते हुए घेर लिया और बाहर नहीं जाने दिया। छात्रों के ऐसे व्यवहार की निंदा नहीं की जानी चाहिए?'

आपको बता दें कि जेएनयूएसयू (जेएनयू छात्र संघ) ने 15 जनवरी से हड़ताल का आह्वान कर रखा है।

रजिस्ट्रार के पत्र में कहा गया है, 'इस वजह से पर्याप्त संख्या में सुरक्षा गार्ड (पुरुष व महिला) की तैनाती करने का निर्देश दिया गया है, ताकि किसी विद्यार्थी या प्राध्यापक के प्रवेश को हड़तालियों द्वारा जबर्दस्ती नहीं रोका जाए। सामान्य पोशाक में भी कुछ गार्डो की तैनाती का निर्देश दिया गया है और कुछ भी उपद्रव होने पर उसकी वीडियोग्राफी करने का निर्देश दिया गया है।'

छात्र, प्रशासन के परीक्षा की योग्यता के लिए 75 फीसदी उपस्थिति की अनिवार्यता के आदेश के खिलाफ विरोध कर रहे हैं। छात्र इस आदेश को जेएनयू की संस्कृति के खिलाफ बताते हुए इसका पालन करने से इनकार कर रहे हैं।

और पढ़ें: गरजे PM मोदी, गठबंधन पर कहा- दिल्ली में दोस्ती, त्रिपुरा में कुश्ती?

RELATED TAG: Jnu, Compulsory Attendance,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो