जम्मू- कश्मीर: शोपियां एनकाउंटर हिजबुल कमांडर यासीन इत्तू ढेर, बुरहान के बाद संभाली थी कमान

By   |  Updated On : August 13, 2017 10:16 PM
ख़ास बातें
  •  सुरक्षाकर्मियों और आतंकियों की मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर यासीन इत्तू की मौत
  •  बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से इत्तू  हिजबुल मुजाहिदीन की कमान संभाल रहे थे
  •  शनिवार को राष्ट्रीय राइफल्स, राज्य पुलिस और सीआरपीएफ सहित सुरक्षाबलों ने शोपियां के अलवीरा गांव को घेर लिया था

नई दिल्ली:  

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को सुरक्षाकर्मियों और आतंकियों की मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर यासीन इत्तू उर्फ महमूद ग़ज़नवी की मौत हो गई। बता दें कि शनिवार शाम शोपियां जिले के अवनीरा गांव में एक ही घर में तीन आतंकवादियों के छिपे होने की ख़बर मिली थी। 

जिसके बाद दोनो तरफ से गोलीबारी हुई जिसमें दो जवान शहीद हो गए, जबकि तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया।  मारे गए तीनों आतंकियों की पहचान इरफान शेख, उमर मजीद, यासीन इत्तू उर्फ महमूद ग़ज़नवी के रूप में की गई है।

साउथ कश्मीर के डिप्टी इंसपेक्टर ऑफ़ पुलिस एसपी पानी ने हिजबुल कमांडर के मारे जाने की ख़बर की पुष्टि करते हुए ट्विट पर कहा, 'यासीन इत्तू जो कि महमूद ग़ज़नवी के नाम से भी जाना जाता है। इसी साल जुलाई महीने में बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से इत्तू  हिजबुल मुजाहिदीन की कमान संभाल रहे थे। इत्तू शोपियां एनकाउंटर में मारे गए तीन आतंकियों में से एक है।' 

और पढ़ें: हिमाचल प्रदेश: मंडी में भूस्खलन, खाई में गिरी दो बसें, 30 लोगों की मौत

शुरुआत में मारे गए एक आतंकी की पहचान आदिल मलिक के तौर पर हुई थी। लेकिन बाद में ऐसा बताया जा रहा है कि मरने वाला तीसरा आतंकी यासीन इत्तू उर्फ महमूद ग़ज़नवी है। पुलिस ने ग़ज़नवी के परिवार को लाश की पहचान करने के लिए बुलाया है। बताया जा रहा है कि ग़ज़नवी चीफ हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर था।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि खुफिया एजेंसियों से जानकारी मिली थी कि दो से तीन आतंकवादी गांव में छिपे हुए हैं, जिसके बाद शनिवार को राष्ट्रीय राइफल्स, राज्य पुलिस और सीआरपीएफ सहित सुरक्षाबलों ने इलाके को चारों ओर से घेर लिया।

पुलिस ने बताया कि जैसे ही सुरक्षाबल ने आतंकवादियों को चारों ओर से घेर लिया, उन्होंने गोलीबारी करनी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

स्थानीय रिपोर्टों के मुताबिक, गांव की घेराबंदी को तोड़ने के लिए कुछ युवक सुरक्षाबलों के साथ भिड़ गए। इस दौरान सुरक्षाबलों द्वारा इस्तेमाल की गई पैलेट गन में सात नागरिक घायल हो गए।

और पढ़ें: छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों ने दो नक्सलियों को मार गिराया

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो