Breaking
  • कोलकाता टेस्ट: श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया पहली पारी में 172 रनों पर ऑलआउट
  • अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा के पास भूकंप, रिक्टर स्केल पर 6.4 तीव्रता

दाऊद इब्राहिम की इमारत खरीद 'टॉयलेट' बनवाना चाहते हैं स्वामी चक्रपाणि

  |  Updated On : November 11, 2017 12:09 AM
हिन्दू नेता स्वामी चक्रपाणि (फाइल फोटो)

हिन्दू नेता स्वामी चक्रपाणि (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

1993 के सीरियल बम धमाकों के आरोपी दाऊद इब्राहिम की कार खरीद कर उसमें आग लगाने वाले हिन्दू नेता स्वामी चक्रपाणि एक बार फिर सुर्ख़ियों में है

चक्रपाणि ने ऐलान किया है कि मुंबई के भिंडी बाज़ार स्थित दाऊद की ईमारत को खरीद उस पर 'टॉयलेट' बनवाएंगे अखिल भारत हिन्दू महासभा के नेता चक्रपाणि नीलामी होने के चलते मुंबई में है

पीटीआई से बातचीत में स्वामी चक्रपाणि ने कहा, 'बोली लगाने के बाद होटल अफ़रोज़ पर शौचालय होगा जो कि सबके लिए मुफ्त होगा। एक गैंगस्टर की संपत्ति पर शौचालय बनवाकर मैं उसे संदेश दूंगा कि कैसे आतंकवाद खत्म किया जाता है।'

चक्रपाणि ने कहा, 'जब शौचालय तैयार हो जाएगा तब वे 'स्वच्छ भारत' के तहत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को उद्घाटन के लिए आमंत्रित करेंगे।'

दिसंबर 2015 में दाऊद की संपत्ति समेत अफरोज होटल की भी नीलामी की गई थी स्वामी चक्रपाणि तब सुर्ख़ियों में आये थे जब उन्होंने दाऊद की हुंडई एक्सेंट कार 32,000 रूपये में खरीद कर इंदिरापुरम में आग के हवाले कर दी थी।

हिन्दू महासभा नेता चक्रपाणि का कहना है कि 'उनका दोस्त दाऊद की नीलाम हुई संपत्ति जब खरीदेंगे तब वे उसे अपने नाम करवा लेंगे उस संपत्ति पर वे गरीबों के लिए डिस्पेंसरी खोलेंगे। यह डिस्पेंसरी आतंकी हमले में अपनी जान खो बैठे लोगों के लिए श्रद्धांजलि होगी।'

और पढ़ें: GST दर में बदलाव पर बोले राहुल- नहीं लगाने देंगे 'गब्बर सिंह टैक्स'

नीलाम हुई कार जलाने के बाद चक्रपाणि को धमकी भरे फोन और मैसेज आने शुरू हो गए थे। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने दाऊद इब्राहिम के 6 गुर्गे को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार हुए आरोपियों में जुनैद और रॉबिंसन का नाम भी था।

आपको बता दें कि दो साल पहले भी वित्त मंत्रालय ने दाऊद की 7 प्रॉपर्टीज़ को नीलाम करने की कोशिश की थी। उस नीलामी में दमन में एग्रीकल्चरल लैंड, होटल रौनक अफ़रोज़, माटुंगा की महावीर बिल्डिंग में एक फ्लैट और दाऊद की इस्तेमाल की गई एक कार शामिल थी।

उस समय होटल रौनक अफ़रोज़ पर सबसे बड़ी बोली लगाने वाली गैर सरकारी संस्था 'देश सेवा समिति' की तरफ से बोली कि पूरी रकम न अदा कर पाने की स्तिथि में उस सौदे को रद्द करना पड़ा था।

इस संस्था ने इस होटल के लिए 4.28 करोड़ की सबसे बड़ी बोली लगाई थी। संस्था ने 30 लाख रुपये का बयाना तो दिया लेकिन बचे हुए रकम नहीं जुटा पाई थी।

और पढ़ें: पाकिस्तान ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पत्नी से मिलने की इजाजत दी

RELATED TAG: Swami Chakrapani, Dawood Ibrahim,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो