गोरखा मुक्ति मोर्चा के बिमल गुरुंग के माओवादियों से संबंध, पुलिस ने कहा- पुख़्ता जानकारी है पास

असम में अलग राज्य 'गोरखालैण्ड' की मांग करने वाली गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता बिमल गुंरुग के संपर्क विद्रोही समूहों और माओवादियों के साथ संपर्क है।

  |   Updated On : October 13, 2017 03:01 PM
बिमल गुरुंग, जीजेएम अध्यक्ष (फाइल फोटो)

बिमल गुरुंग, जीजेएम अध्यक्ष (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अलग राज्य 'गोरखालैण्ड' की मांग करने वाली गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता बिमल गुंरुग के संपर्क विद्रोही समूहों और माओवादियों के साथ संपर्क है।

पश्चिम बंगाल के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अनुज शर्मा ने कहा, 'हमें जानकारी है कि बिमल गुरुंग ने पूर्वोत्तर विद्रोही समूहों और माओवादी के साथ संबंध रखे हैं।'

इसके साथ ही एडीजी ने बताया कि, 'हमें पुख्ता जानकारी मिली है कि बिमल गुरुंग (जीजेएम अध्यक्ष) ने कार्यकर्ताओं को पुलिस दलों पर हमले के निर्देश दिए थे।'

इसके साथ ही पुलिस ने 6 एके-47 राइफल, 19 मिमी पिस्तौल, असला और विस्फोटक सामग्री जब्त की है। दार्जिलिंग में पुलिसकर्मियों के साथ हुई झड़प के बाद कार्रवाई की है।

गौरतलब है कि पुलिसकर्मी और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों के बीच हुए टकराव में पश्चिम बंगाल पुलिस के एएसआई अमिताव मल्लिक की मौत हो गई थी।

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में पुलिस और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के समर्थक के बीच खूनी संघर्ष हुआ था।

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 11 Episode 11: विकास गुप्ता बने घर के पहले कैप्टन,एलिमिनेशन से हुए सेफ

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published: Friday, October 13, 2017 02:53 PM

RELATED TAG: Bimal Gurung, Gjm,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो