Breaking
  • कुशीनगर हादसा: पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल को हिरासत में लिया
  • कर्नाटक चुनाव 2018 :कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुमटा में रैली को संबोधित किया
  • पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव एक चरण में कराने के लिये अधिसूचना जारी, 14 मई को होंगे चुनाव
  • पूर्व TV एंकर सुहैब इलियासी को एक महीने की अंतरिम जमानत मिली
  • पीएम मोदी चीन के लिए रवाना, राष्ट्रपति शी जिनपिंग से 27-28 अप्रैल को करेंगे मुलाकात
  • 1994 के शशिनाथ झा हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन को किया बरी
  • वरिष्ठ वकील इंदु मल्होत्रा आधिकारिक तौर पर सुप्रीम कोर्ट की जज नियुक्त हुईं
  • कमलनाथ को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया
  • गिरीश चोडणकर को गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया
  • गाजियाबाद: साहिबाबाद रेलवे स्टेशन पर ट्रैक पार करते वक्त ट्रेन से टकराकर शख्स की हुई मौत
  • दिल्ली: कन्हैया नगर में स्कूल वैन और टैंपो में टक्कर, 1 बच्ची की मौत, 18 घायल
  • सुनील गावस्कर का नाम ध्यानचंद लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड के लिए भेजा गया: BCCI
  • विराट कोहली को मिल सकता है खेल रत्न पुरस्कार, खेल मंत्रालय के पास नाम भेजा गया: BCCI
  • पंजाब: लुधियाना के ग्यासपुरा में सिलेंडर फटने से 24 लोग घायल
  • यूपी के कुशीनगर में बड़ा हादसा, ट्रेन और वैन की टक्कर में 13 स्कूली बच्चों की मौत

खालिस्तानी आतंकवाद को भड़काने में लगा पाकिस्तान, हाफिज से मिला आतंकी गोपाल सिंह चावला

  |   Updated On : April 17, 2018 11:48 PM
खालिस्तानी आतंकवाद को भड़का रहा पाकिस्तान (एएनआई)

खालिस्तानी आतंकवाद को भड़का रहा पाकिस्तान (एएनआई)

नई दिल्ली:  

भारत में आतंक फैलाने को लेकर पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के साथ खालिस्तानी आतंकी की सामने आई तस्वीर ने भारत के खिलाफ पाकिस्तान की धरती पर रची साजिश को बेनकाब कर दिया है। 

पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और जमात-उद-दावा खालिस्तानी आतंकवाद को भड़काने में लगा हुआ है, जिसकी पुष्टि गोपाल सिंह चावला के लाहौर में हाफिज सईद से मिलने की तस्वीर सामने आने के बाद हुई है। 

आतंकी सरगना गोपाल सिंह चावला की वजह से ही पाकिस्तान ने बीते 14 अप्रैल को वैसाखी डे के मौके पर भारतीय राजनयिक अधिकारयों को पंजा साहिब गुरुद्वारा में जाने से रोक दिया था।

इससे पहले 12 अप्रैल को भी अधिकारियों को वाघा बॉर्डर पहुंचे सिख श्रद्धालुओं से मिलने से रोक दिया गया था। वाघा भारतीय सीमा खत्म होने के बाद पाकिस्तान का पहला रेलवे स्टेशन है।

पाकिस्तान स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारी हर साल की तरह भारतीय श्रद्धालुओं से मिलना चाह रहे थे ताकि उन्हें वहां किसी तरह की दिक्कत न हो और विषम परिस्थिति में मदद कर सकें।

खालसा पंथ के 320 वें जन्म दिवस के मौके पर वैशाखी के दिन 1800 सिख श्रद्धालु पाकिस्तान में तीर्थ स्थल पर पहुंचे थे। भारतीय श्रद्धालुओं की यह तीर्थयात्रा भारत और पाकिस्तान के बीच धार्मिक यात्राओं के लिए हुए समझौते के तहत होती है।

भारत विरोधी अभियान के तहत गुरुद्वारा पंजा साहिब के परिक्रमा के दौरान पाकिस्तान में सिख जनमत संग्रह 2020 के पोस्टर भी लगाए गए थे, जिसका भारत ने जोरदरा विरोध किया है।

यहां तक भारतीय उच्चायुक्त बिसारिया को भी पंजा साहिब गुरुद्वारा जाने से रोक दिया गया था।

और पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी आज स्वीडन और ब्रिटेन की यात्रा पर होंगे रवाना, निवेश और स्वच्छ ऊर्जा पर जोर

भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पाकिस्तान सरकार ने जो किया है यह वियना कन्वेंशन का घोर उल्लंघन है।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आतंकी संगठनों की मदद से भारत को अस्थिर करने की कोशिश करता रहा है।

और पढ़ें: कठुआ रेप केस में सभी आरोपी नार्को टेस्ट के लिए तैयार, नोटिस जारी

RELATED TAG: Pakistan, Jaish E Mohammad, Jamaat Ud Dawah, Sikh,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो