Breaking
  • गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने दूसरी सूची जारी की, 13 उम्मीदवारों के नाम शामिल

कांग्रेस की मांग, जीएसटी में 5 नहीं एक हो स्लैब, पेट्रोलियम और रियल एस्टेट भी आए दायरे में

  |  Updated On : November 11, 2017 10:40 PM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-PTI)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-PTI)

ख़ास बातें
  •  कांग्रेस की मांग, जीएसटी के दायरे में आए पेट्रोलियम उत्पाद, रियल एस्टेट और बिजली
  •  राहुल बोले- जीएसटी की 5 स्लैब नहीं, एकल कर की जरूरत
  •  राहुल गांधी पीएम मोदी और अमित शाह के गृहराज्य गुजरात के अपने चौथे चुनावी दौरे पर हैं

नई दिल्ली:  

गुजरात विधानसभा चुनाव में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को बड़ा मुद्दा बना चुकी कांग्रेस ने शुक्रवार को पेट्रोलियम उत्पादों, रियल एस्टेट और बिजली को जीएसटी के अधीन लाने की मांग की। साथ ही पार्टी ने कहा कि देश में पांच स्लैब नहीं, एकल कर प्रणाली की जरूरत है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा, 'यह अच्छी बात है कि कांग्रेस और देश के लोगों ने भाजपा सरकार पर दबाव बनाया, जिसके चलते कई वस्तुओं को 28 फीसदी कर के दायरे से निकालकर कर 18 फीसदी कर के दायरे में शामिल किया गया। लेकिन हम इससे खुश नहीं हैं और हम इतने भर से नहीं रुकेंगे। भारत में पांच अलग-अलग करों की जरूरत नहीं है, बल्कि देश में एकल कर की जरूरत है। इसलिए जीएसटी में संरचनात्मक बदलाव की जरूरत है।'

राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के गृहराज्य गुजरात के अपने चौथे चुनावी दौरे पर हैं।

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिह सुरजेवाला ने एक बयान जारी कर कहा, 'अगर आप बिजली, पेट्रोलियम और रियल एस्टेट को जीएसटी के दायरे से बाहर रखते हो तो राजस्व का 50 प्रतिशत जीएसटी के दायरे से बाहर रहेगा। इसका मतलब है मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स के लिए राजकोष में सालान 2,67,000 करोड़ रुपये देना जारी रख सकती है।'

और पढ़ें: GST में कटौती पर BJP ने PM को तो, कांग्रेस ने राहुल को दिया क्रेडिट

गुजरात में अगले महीने 9 और 14 दिसंबर को विधानसभा चुनावों के लिए मतदान होगा। तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार को फिर गुजरात पहुंचे राहुल ने बीजेपी के गढ़ उत्तर गुजरात में चुनाव प्रचार किया।

राहुल के इस दौरे में कांग्रेस की प्रदेश इकाई में शामिल हुए अन्य पिछड़ी जाति (ओबीसी), अनुसूचित जाति (एससी), और अनुसूचित जनजाति (एसटी) और ओएस एकता मंच के नेता अल्पेश ठाकोर उनके साथ चल रहे हैं।

प्रांतिज में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ठाकोर ने लोगों से कहा, 'भाजपा वाले आपको डराएंगे, मूर्ख बनाएंगे, फिर मोदी आएंगे और गुजरात की गौरवगाथा गाएंगे। लेकिन इस बार उनकी बातों में नहीं आना।'

इलाके में अन्य जगहों पर भी कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सरकार को निशाना बनाया। इदर और हिम्मतनगर में उन्होंने अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी का कारोबार कथित तौर महज एक साल में 1,6000 गुना बढ़ जाने के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर जुबानी हमले किए। उन्होंने कहा, 'मोदीजी कुछ तो बोलिए।'

राहुल ने कहा कि जो सरकार लोगों से 8 बजे रात में यह कह सकती है कि अब उनके पास के करेंसी नोट रद्द हो जाएंगे, वह लोगों के दिल की बात और दर्द कैसे जान समझ सकती है।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की ओर से 35,000 करोड़ रुपये की महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना शुरू की गई थी, लेकिन मोदी ने 35,000 करोड़ रुपये टाटा नैनो प्रोजेक्ट को दे दिया, गरीबों को कुछ नहीं दिया।

और पढ़ें: अखिलेश यादव श्रीकृष्ण की मूर्ति का सैफई में करेंगे अनावरण

(इनपुट IANS से भी)

RELATED TAG: Gujarat Election 2017, Congress, Rahul Gandhi, Petroleum Products, Real Estate, Gst,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो