Breaking
  • वायुसेना के लड़ाकू विमानों का लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर अभ्यास शुरू -Read More »
  • खरीददारी के माहौल से चढ़े शेयर बाज़ार, सेंसेक्स करीब 150 अंक उछला, निफ्टी 10,220 स्तर पार -Read More »
  • फडणवीस का शिवसेना पर कटाक्ष, कहा- स्वार्थी दोस्त की तुलना में उदार विपक्ष अच्छा (पढ़ें ख़बर) -Read More »
  • सुशील मोदी के ट्वीट पर भड़के तेजस्वी, निजी हमला कर दी चुनौती (पढ़ें पूरी ख़बर) -Read More »

अगर राहुल गांधी बने देश के प्रधानमंत्री, तो जीएसटी की होगी समीक्षा: राज बब्बर

By   |  Updated On : October 12, 2017 12:15 PM
राज बब्बर और राहुल गांधी

राज बब्बर और राहुल गांधी

नई दिल्ली:  

देश में जीएसटी के मुद्दे पर व्यपारियों की नाराज़गी देखते हुए काग्रेस ने घोषणा की है कि अगर राहुल गांधी पीएम बनते हैं तो जीएसटी पर फिर से समीक्षा की जाएगी। बुधवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने पर जीएसटी की पुन: समीक्षा की जाएगी।

बब्बर ने कहा कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बने तो जीएसटी की फिर से समीक्षा होगी और 18 प्रतिशत से अधिक जीएसटी नहीं लगेगा। समीक्षा में युवकों, छोटे व्यापारियों और किसानों का हित ध्यान रखा जायेगा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद के नाम पर बीजेपी और संघ युवकों को गुमराह कर रहे हैं। बब्बर बरेली में इंदिरा गांधी जन्म शताब्दी समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि उन्हें अपनी ताकत पहचानने की जरूरत। पाखंडी और प्रपंची बीजेपी नेताओं से मुकाबले को तैयार हों।

बता दें कि हाल ही में मोदी सराकार की तरफ से जीएसटी को सुगम बनाने की भी पहल की गई है। अरुण जेटली की अध्यक्षता में शुक्रवार (7 अक्टूबर) को हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद हज़ारों छोटे कंपनियां और निर्यातकों को राहत दी गई है।

छोटे कारोबारियों को मोदी सरकार का दीवाली गिफ्ट, GST रिटर्न अब हर तीन महीने में, बिना पैन कार्ड खरीदे ज्वैलरी

शुक्रवार को हुई जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) काउंसिल की बैठक में 27 आइटम्स की कीमतों में कटौती कर दी गई है।

इसके साथ ही छोटे कारोबारियों को बड़ी राहत देते हुए उनके रिटर्न दाखिल करने की समय सीमा को बढ़ा दिया है।

वहीं जीएसटी परिषद ने आम कारोबारियों को राहत देने के साथ ही दीवाली के बाद शुरू होने वाले त्योहारी सीजन से पहले आम उपभोक्ताओं को भी बड़ी राहत दी है। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) परिषद की बैठक में जेम्स एंड ज्वैलरी से जुड़ी अधिसूचना को रद्द कर दिया है।

अब किसी भी आम उपभोक्ता को 50,000 रुपये से अधिक की ज्वैलरी की खरीदारी पर पैन कार्ड या आधार कार्ड नहीं देना होगा। गौरतलब है कि त्योहारी सीजन से पहले सरकार के इस फैसले से बाजार को राहत मिलेगी।

खाखरा पर GST कम, क्या मोदी सरकार की नजर में था गुजरात चुनाव?

RELATED TAG: Raj Babbar, Rahul Gandhi, Gst, Congress, Bjp,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो