Breaking
  • विमान रद्द किए जाने की ख़बर को इंडिगो ने किया ख़ारिज़
  • इंजन खराबी को लेकर इंडिगो ने रद्द किए 84 फ्लाइट्स -Read More »
  • गोरखपुर हादसे पर इलाहाबाद हाई कोर्ट में 29 अगस्त को होगी अगली सुनवाई
  • सुप्रीम कोर्ट ने दिया कार्ति चिदंबरम को CBI के समक्ष पेश होने का आदेश -Read More »
  • नारायणमूर्ति को जिम्मेदार बताते हुए सिक्का ने इंफोसिस से दिया इस्तीफा, पढ़ें पूरा लेटर -Read More »
  • जन्मदिन विशेष: 'गुलज़ार', ज़िंदगी के एहसास को नज़्मों में पिरोने वाला शख़्स -Read More »
  • अखिलेश यादव बोले, सीबीआई केंद्र सरकार के अधीन, उनकी भी होनी चाहिए जांच
  • देहरादून: क्लोरीन गैस लीक से 24 लोग बीमार, काबू में हालात -Read More »
  • इंफोसिस के सीईओ और एमडी पद से विशाल सिक्का का इस्तीफा -Read More »
  • स्पेन: बार्सिलोना आतंकी हमले में 13 लोगों की मौत, जवाबी कार्रवाई में 4 आतंकी ढेर, ISIS ने ली जिम्मेदारी

चुनाव आयोग शनिवार को देगा EVM हैक करने की चुनौती, लाइव होगा डेमो

By   |  Updated On : May 19, 2017 11:46 AM

नई दिल्ली :  

चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के लाइव डेमो के लिए 20 मई की तारीख तय की है। इसके साथ ही आयोग सभी राजनीतिक दलों को ईवीएम को हैक करने की चुनौती भी देगा, जो मीडिया के ससामने कराया जाएगा।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों की थी। चुनाव आयोग ने 12 मई को सर्वदलीय बैठक कर सभी राजनीतिक दलों को ईवीएम से छेड़छाड़ करने की औपचारिक तौर पर खुली चुनौती दी थी।

बीजेपी को छोड़कर लगभग सभी विपक्षी दलों ने दावा किया था कि ईवीएम से लोगों का भरोसा उठ गया है।

इस सर्वदलीय बैठक में मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने पार्टियों को चुनौती देते हुए कहा था कि राजनीतिक दल सिद्ध करके दिखाएं कि एडवांस्ड तकनीकी एवं प्रशासनिक सुरक्षा इंतजाम के बावजूद ईवीएम के साथ छेड़छाड़ कैसे की जा सकती है।

उन्होंने कहा था, ‘हालांकि ईवीएम के साथ वीवीपीएटी का इस्तेमाल पूरी पारदर्शिता और विश्वसनीयता सुनिश्चित करेगी लेकिन विवाद को समाप्त करने के लिए आयोग चुनौती पेश करेगा।’

बैठक में मौजूद बीजेपी, माकपा, भाकपा ,अन्नाद्रमुक, द्रमुक सहित अनेक पार्टियों ने वीवीपीएटी मशीन से जुड़ी ईवीएम के इस्तेमाल का खुला समर्थन किया था। लेकिन बीएसपी, आप, तृणमूल कांग्रेस ने मतपत्रों के जरिए मतदान के पुराने तरीके को ज्यादा बेहतर और पारदर्शी बताया।

चुनाव आयुक्त ने कहा था कि आपको इस बात से सहमत होना चाहिए कि कोई भी दल चुनाव आयोग का पसंदीदा नहीं है, हम सभी पार्टियों और समूहों से समान दूरी बना कर रखते हैं।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो