Breaking
  • यौन अपराध रोकने के लिए महिलाओं को गैजेट्स दिलाए सरकार: मद्रास HC (पढ़ें खबर) -Read More »
  • लश्कर प्रमुख हाफिज सईद ने फिर उगली आग, बोला- भारत से लेंगे पूर्वी पाकिस्तान का बदला
  • गुजरात चुनाव से पहले डरे हार्दिक, बोले- EVM पर सौ फीसदी है शक (पढ़ें खबर) -Read More »
  • जीएसटी परिषद ने ई-वे बिल को लागू करने की दी मंजूरी

दिल्लीः साकेत के एसबीआई बैंक से महिला गैंग ने की साढ़े तीन लाख की चोरी, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

  |  Reported By  :  Rizwan Arif  |  Updated On : December 04, 2017 03:22 AM
एसबीआई बैंक

एसबीआई बैंक

नई दिल्ली:  

दिल्ली के साकेत इलाके के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) में कैश जमा कराने गए एक डिस्ट्रीब्यूटर के साढ़े तीन लाख रुपये पलक झपकते ही कैशियर काउंटर से ही चोरी हो गए।

सीसीटीवी के मुताबिक, सीट पर कैशियर के नहीं होने पर एक पैर से दिव्यांग डिस्ट्रीब्यूटर ने कैश काउंटर के अंदर रख दिया और वहीं बगल में सीट पर बैठ गया। इसी दौरान मौका देख एक महिला काउंटर के अंदर रखे कैश को लेकर फरार हो गई। उसके साथ तीन अन्य महिला साथी भी थीं। पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे के अंदर कैद हुई है।

मामले की शिकायत पर पुलिस ने चोरी का मुकदमा दर्ज कर लिया है, अब पुलिस सीसीटीवी फुटेज की मदद से इस महिला गैंग के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।

 पुलिस के मुताबिक, संगम विहार में 44 वर्षीय महेन्द्र कुमार मदर डेयरी और डीएमएस के दुध डिस्ट्रीब्यूटर हैं। प्रतिदिन छह सात लाख रुपये का काम है, जिसे रोजाना साकेत स्थित एसबीआई बैंक में जमा कराना होता है।

एक पैर से दिव्यांग महेन्द्र तीस नवम्बर को अपने दोस्त मोनू के साथ बैंक में कैश जमा कराने के लिये गए थे। काउंटर पर कैशियर न होने की वजह से उन्होंने साढ़े तीन लाख रुपये काउंटर के अंदर की तरफ रख दिए। इसके बाद वह बगल में ही सीट पर बैठ गए। वह कैशियर के आने का इंतजार करने लगे, तभी अचानक दो महिलाएं और कुछ युवक उनके सामने आकर खड़े हो गए।

और पढ़ेंः कुमार विश्वास ने कहा- पार्टी में लगाएंगे एंटी-वायरस, पार्टी छोड़ गए नेताओं को वापस लाने की जरूरत

मौके की तलाश में काउंटर के नजदीक खड़ी महिला ने हाथ डाल रकम निकाल ली और फिर वहां से एकदम चलती बनी। काम पूरा होते ही उसके गैंग में शामिल दो तीन महिलाएं भी वहां से निकल गयी। सूट शलवार पहने इस महिला चोर को इस बात का कतई डर नहीं था कि वह बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो सकती है।

थोड़ी देर बाद जब महेन्द्र कैश काउंटर पर पहुंचे तो उन्हें रुपये गायब मिले। चोरी की रकम में 62 नोट दो हजार और 452 नोट पांच सौ के थे। इस घटना के बाद सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चैक की गई, जहां इस महिला गैंग की करतूत उजागर हुई।

पीड़ित महेन्द्र ने घटना के लिए बैंक को ज़िम्मेदार बताते हुए कहा कि कुछ दिनों से उन्हें परेशान किया जा रहा था। इतनी बड़ी रकम को बैंक में जमा कराने की लिए उन्हें प्रतिदिन खुद बैंक आकर जमा पर्ची पर हस्ताक्षर करने के लिये कहा जाता था। उन्हें यह भी हिदायत दी गई कि इतनी बड़ी रकम जमा कराने के लिये दो हजार और पांच सौ के ही नोट लेकर आएं। 

चोरी की इस घटना के पीछे वह सीधे तौर पर बैंक प्रशासन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उनका कहना है कि ऑन ड्यूटी अगर सीट पर कैशियर बैठा होता तो उन्हें रकम जमा कराने के लिये न तो इंतजार करना पड़ता और ना ही वह रुपये काउंटर के अंदर रखते।

और पढ़ेंः गाजियाबाद में बदमाशों ने NIA की टीम पर किया हमला, एक अधिकारी घायल

RELATED TAG: Delhi, Women Gang Steal 3 Lakh Rupees, Sbi Branch In Saket, Saket, Saket Sbi Bank, Crime, News In Hindi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो