Breaking
  • कमल हसन ने किया अपने राजनीतिक पार्टी के नाम का ऐलान- 'मक्कल नीधी मैय्यम'
  • PNB घोटाला: जांच की मांग वाली याचिका का सरकार ने SC में किया विरोध -Read More »
  • प्रिया प्रकाश वारियर को सुप्रीम कोर्ट से राहत, एक्ट्रेस के खिलाफ दर्ज हुए मामलों पर लगाई रोक
  • CBI रोटोमेक के मालिक विक्रम कोठारी और उनके बेटे से दिल्ली हेडक्वार्टर में कर रही है पूछताछ
  • यूपी: पीएम मोदी करेंगे इन्वेस्टर्स समिट का आग़ाज़, सीएम योगी को व्यापार में बढ़ोतरी की उम्मीद -Read More »
  • फिल्म अभिनेता कमल हासन आज अपनी पार्टी करेंगे लांच, कहा- गांव के विकास पर होगी नज़र -Read More »
  • पीएनबी फर्जीवाड़ा: 11 हज़ार करोड़ नहीं 280 करोड़ रुपये का लिया था लोन- नीरव के वकील -Read More »
  • पीएनबी घोटाला: सीबीआई ने जनरल मैनेजर रैंक के अधिकारी को किया गिरफ्तार

दिवाली से पहले दिल्ली में बढ़ा प्रदूषण का स्तर, पंजाब के संगरूर में नाराज किसान जला रहे हैं पराली

  |  Updated On : October 12, 2017 11:47 AM
संगरूर में पराली जलाते किसान (फोटो- ANI)

संगरूर में पराली जलाते किसान (फोटो- ANI)

ख़ास बातें
  •  एनजीटी ने 2015 में किसानों के पराली जलाने पर लगाई थी रोक
  •  किसान पराली नहीं जलाने पर सब्सिडी कर रहे हैं मांग
  •  दिल्ली में प्रदूषण खराब स्तर पर पहुंचा, पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा बढ़ी

नई दिल्ली:  

दिवाली से ठीक पहले दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण एक बार फिर 'खराब' स्थिति में पहुंचने की आशंका जताई जाने लगी है।

राजधानी में बुधवार को पीएम 2.5 जहां 209 के स्तर तक मापा गया वहीं, पीएम 10 पार्टिकल्स 271 के खराब स्तर तक पहुंच गया है। एक रिपोर्ट के मुकाबिक दिल्ली में 22 सितंबर से 8 अक्टूबर के बीच पीएम 2.5 का स्तर 11 गुणा बढ़ा है।

इस बीच हरियाणा और पंजाब में पराली नहीं जलाने को लेकर आदेश के बावजूद इसे रोकने को लेकर ठोस पहल होती नजर नहीं आ रही है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने कहा, पटाखों की होम डिलिवरी पर होगी कड़ी कार्रवाई, SC ने बिक्री पर लगाई है रोक

पंजाब के संगरूर में कई किसानों द्वारा पराली जलाने की खबरें आई हैं। किसान पराली नहीं जलाने के आदेश के बाद सब्सिडी की मांग कर रहे हैं।

बता दें कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने एक दिन पहले ही पंजाब सरकार पर नाराजगी जताते हुए उन 21 किसानों को पेश करने कहा है, जिनके बारे में कहा गया था कि राज्य ने सरकार ने उन्हें पराली जलाने से रोकने के लिए प्रोत्साहन एवं अन्य आधारभूत सुविधाएं दी गईं हैं।

साथ ही एनजीटी ने सख्ती दिखाते हुए यह भी पूछा था कि पराली नहीं जलाने को लेकर आदेश दिए जाने के दो साल बाद भी सरकार ने एक्शन प्लान तैयार नहीं किया।

यह भी पढ़ें: पटाखा बैन के खिलाफ कारोबारी पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, बेचने की मांगी इजाजत

RELATED TAG: Delhi Pollution, Punjab,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो