Breaking
  • बलूचिस्तान: क्वेटा में चर्च के पास धमाका, चार घायल
  • INDvSL तीसरा वनडे: भारत ने टॉस जीतकर लिया गेंदबाजी का फैसला
  • असम के धेमाजी में आया 4.2 तीव्रता का भूकंप
  • सुरक्षा बलों ने बारामुला के पट्टन इलाके में सर्च ऑपरेशन किया लॉन्च
  • पाकिस्तान सरकार ने जाधव की पत्नी और मां के वीजा को किया मंजूर
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी सांसद और पद अधिकारियों को दिया डिनर का न्योता
  • मध्यप्रदेश: कांग्रेस नेता कमल नाथ पर बंदूक तानने वाले पुलिस कांस्टेबल के खिलाफ FIR दर्ज
  • अमृतसर, जालंधर और पटियाला की 32 नगर परिषदों और नगर पंचायतों पर मतदान हुआ शुरू
  • गुजरात चुनाव: आज 6 बूथों पर फिर से होगा मतदान

दिल्ली: मैक्स अस्पताल की लापरवाही, जिंदा बच्चे को घोषित कर दिया मृत, केस दर्ज

  |  Updated On : December 01, 2017 11:42 PM
मैक्स हॉस्पिटल (फाइल फओ)

मैक्स हॉस्पिटल (फाइल फओ)

नई दिल्ली:  

मैक्स हॉस्पिटल में जिंदा बच्चे को मृत बताने के बाद उस पर IPC की धारा 308 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। मामला दिल्ली के शालीमारबाग इलाके का है।

डॉक्टर ने 30 नवंबर को जन्में दो जुड़वा बच्चों को मृत घोषित कर दिया था। जब परिजन बच्चे को दफनाने के लिए ले जाने के दौरान रास्ते में उन्हें अहसास हुआ कि एक बच्चा जिंदा है।

घटना के बाद मैक्स हेल्थकेयर अथॉरिटी ने इसे दुभाग्यपूर्ण बताया था। हॉस्पिटल ने मामले से संबंधित डॉक्टर को छुट्टी पर जाने का आदेश दे दिया है।

जुड़वा बच्चों के नाना, प्रवीण ने बताया, ' मेरी बेटी मंगलवार को डिलीवरी के लिए अस्पताल में भर्ती हुई थी। दो दिन बाद सी-सेक्शन डिलीवरी के दौरान शाम 7.30 बजे उसने पहले एक बेटे और 12 मिनट बाद एक बेटी को जन्म दिया।'

घटना के बाद हेल्थ मिनिस्टर जेपी नड्डा ने जांच और जरूरी कार्रवाई के ऑर्डर दे दिए थे। दूसरे नवजात का शव दफनाने के बाद परिवारवालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराया था।

प्रवीण ने बताया कि डॉक्टर्स ने परिवारवालों से कहा कि बेटी की मौत हो चुकी है और बेटे की हालात गंभीर है, उसे वेंटीलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। बाद में बताया कि बेटे को भी बचाया नहीं जा सका।

डॉक्टर्स ने जुड़वा बच्चों के शव प्लास्टिक के बैग में पार्सल की तरह पैक करके परिवारवालों को सौंप दिए।

प्रवीण ने कहा, 'जब हम बच्चों को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे, हमने एक पैकेट में हलचल महसूस की। हम मधुबन चौक के करीब थे, हमने पैकेट को खोला और पाया कि लड़के की सांसे चल रहीं थी। हम उसे प्रीतमपुरा के अन्य अस्पताल में लेकर गए, अब उसका वहां इलाज चल रहा है।'

वहीं इस मामले पर मैक्स हेल्थकेयर अथॉरिटी ने कहा, 'हम इस दुर्लभ हादसे से सदमे में है। हमने जांच शुरू कर दी है तब तक के लिए संबंधित डॉक्टर को छुट्टी पर जाने के लिए कह दिया गया है। हम बच्चे के माता-पिता की हर जरुरत के लिए लगातार संपर्क में है।'

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED TAG: Delhi, Max Hospital,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो