Breaking
  • प्रद्युम्न हत्या मामला: आरोपी बस कंडक्टर की जमानत पर फैसला कल तक के लिए सुरक्षित
  • गुजरात चुनाव 2017: बीजेपी ने जारी की 26 उम्मीदवारों की तीसरी सूची
  • वैष्णो देवी दर्शन के लिए नया रास्ता खोलने के NGT के निर्देश पर SC की रोक
  • CWC बैठक: 1 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष का ऐलान होगा
  • कालेधन पर बड़ी कामयाबी, स्विस सरकार भारत को देगी खातों की जानकारी (पढ़ें खबर) -Read More »

गाय मारने वालों को सड़क दुर्घटना के लिए जिम्मदार लोगों से ज्यादा सजा, दिल्ली की अदालत ने जताया अफसोस

  |  Updated On : July 16, 2017 10:02 AM

नई दिल्ली:  

सड़क दुर्घटना के एक मामले में फैसला सुनाते हुए दिल्ली की एक अदालत ने अफसोस जताया है कि कानून के मुताबिक दोषी ड्राइवरों को अधिकतम दो साल की सजा मिलती है जबकि गाय को मारने वालों पांच से 14 साल का प्रावधान है।

एडिशनल सेशन जज संजीव कुमार ने कहा, विभिन्न राज्यों में गाय को मारने की सजा सात से 14 साल की है लेकिन सड़क दुर्घटना में किसी इंसान के मरने पर केवल दो साल की सजा का प्रावधान है।

जज ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों का भी हवाला दिया और कहा कि एक बार फिर से पुराने कानून को देखने की जरूरत है।

कोर्ट ने कहा, 'देश में रोड एक्सिडेंट से मरने वालों की संख्या में 2014 के बाद 2015 में 5.1 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी आई है। 2015 में हर घंटे करीब 53 सड़क दुर्घटनाएं हुईं। वहीं, प्रति घंटे 17 लोगों की मौत एक्सिडेंट के कारण हुई।'

यह भी पढ़ें: लखनऊः केजीएमयू हॉस्पिटल में लगी आग, आठ लोग मरे

जज के मुताबिक, ज्यादातर सड़क दुर्घटनाएं, करीब 43.7 फीसदी तेज स्पीड के कारण होती हैं। इसके कारण 60,969 लोगों की मौत हुई और करीब 2.12 लाख घायल हुए। जेनेवा की इंटरनेशनल रोड फेडरेशन का उल्लेख करते हुए जज ने कहा कि भारत में सड़क दुर्घटना के कारण सबसे ज्यादा मौतें होती हैं।

यह भी पढ़ें: PICS: न्यूयॉर्क में अनुष्का-विराट साथ में शॉपिंग करते आए नजर

RELATED TAG: Cow, Road Accident, Delhi Court,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो