'कागजी शेर' मोदी, अमेरिकी दबाव में सरकार ने ईरान से कच्चे तेल के आयात में की कटौती: कांग्रेस

  |   Updated On : July 12, 2018 11:29 PM
पीएम मोदी (फाइल फोटो)

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

कांग्रेस ने ईरान से तेल आयात में कटौती करने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाते हुए गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'कागजी शेर' करार दिया और कहा कि वह अमेरिकी दबाव में झुक गए हैं।

कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार ने जानबूझकर जून में ईरान से कच्चे तेल के आयात में कटौती की और इससे साबित होता है कि मोदी की क्षेत्रीय नीति भ्रामक और निर्रथक है। 

कांग्रेस ने सवाल किया कि क्या ईरान से तेल के आयात में कटौती करने के कारण तेल की कीमतों में वृद्धि होने से भारतीय उपभोक्ताओं को बचाने की कोई ठोस योजना सरकार के पास है? 

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, 'भारत रोजाना 7.70 लाख बैरल तेल का आयात करता था जो घटकर 5.70 लाख बैरल रोजाना हो गया है। सब जानते हैं कि भारत कच्चे तेल की अपनी जरूरतों का 80 फीसदी आयात करता है।'

उन्होंने कहा, 'ईरान से तेल आयात में कटौती से आम आदमी की जेब पर सीधा असर होगा। आपूर्ति में कमी होने से तेल की कीमतों में इजाफा होगा, जिससे चालू खाते का घाटा बढ़ेगा।'

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि तेल आयात में कटौती से जाहिर है कि मोदी कागजी शेर हैं और वह अमेरिकी दबाव में झुक गए हैं। आखिरकार इससे भारतीय उपभोक्ताओं को नुकसान झेलना पर रहा है। 

उन्होंने कहा, 'इससे यह भी साबित होता है कि मोदी की विदेश नीति भ्रामक और निर्थक है। तेल की कीमतों पर नियंत्रण का जहां तक सवाल है तो मोदी ने एक बार फिर भारत के राष्ट्रीय हितों के बजाय अमेरिकी हितों को प्राथमिकता दी है।'

और पढ़ें- पीएम मोदी को G-20 में देख शरीफ के दिल में चुभता है तीर

RELATED TAG: Iran, Crude Oil, Modi, Us, Congress, Donald Trump,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो