Breaking
  • पीएम नरेंद्र मोदी लंदन से जर्मनी पहुंचे, एंजेला मर्केल के साथ करेंगे डिनर
  • CBI ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पोक्सो कोर्ट में किया पेश, सात दिन की बढ़ाई कस्टडी
  • IPL 2018 CSK Vs RR: राजस्थान रॉयल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला
  • कश्मीरी युवक एनडीए एक्जाम पास करने के बाद हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल
  • महाभियोग से न्यायपालिका को डराने की कोशिश कर रही कांग्रेस
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट
  • कर्नाटक चुनाव: मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने चमुंदेश्वरी विधानसभा से नामांकन दाखिल किया
  • कांग्रेस ने CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस उप राष्ट्रपति को सौंपा
  • नरोदा पटिया दंगा मामला: गुजरात HC ने पीड़ितों की मुनाफा मांगने की अपील को खारिज किया
  • भारत के श्रीमंत झा ने एशियाई आर्मरेसलिंग चैंपियनशिप के 80 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता
  • नरोदा पाटिया दंगा मामला: माया कोडनानी को गुजरात HC ने बरी किया, बाबू बजरंगी की सजा बरकरार
  • SC ने महाभियोग को लेकर हो रही मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन की मांग पर अटॉनी जनरल 7 मई तक देंगे राय
  • चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग की चर्चा को सुप्रीम कोर्ट ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

डेटा लीक को रोकने के लिए आधार के नए सुरक्षा कवच को चिदंबरम ने बताया बेकार

  |   Updated On : January 11, 2018 07:18 PM
चिदंबरम (फोटो क्रेडिट- चिदंबरम)

चिदंबरम (फोटो क्रेडिट- चिदंबरम)

नई दिल्ली:  

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने गुरुवार को कहा कि आधार डाटा सुरक्षित करने के लिए सरकार की लाई नई पहल को बेकार बताया है। उन्होंने एक ट्वीट कर बताया कि यह व्यवस्था बेकार है।

इसके लिए उन्होंने यह तर्क दिया है कि क्योंकि पहले ही लाखों आधार धारक अपनी यूनिक आईडी कई सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर चुके हैं।

पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'अनिवार्यता की वजह से लाखों लोगों ने पहले ही अपने आधार नंबर कई सेवा प्रदाताओं के साथ साझा कर दिया है। नई सुरक्षा प्रणाली घोड़े के भाग जाने के बाद अस्तबल बंद करने जैसा है।'

आधार डाटा को संग्रहित करने समेत नागरिकों के बायोमेट्रिक जानकारी इकट्ठा करने वाला भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने बुधवार को आधार कार्ड की गोपनीयता सुरक्षित करने के लिए दो स्तरीय प्रणाली लागू करने की घोषणा की। इसके अंतर्गत आधार धारकों को सत्यापन के लिए अपना आधार अंक नहीं देना होगा।

आतंकवाद पर पाकिस्तान से बातचीत में कोई हर्ज नहीं: भारत

हाल ही में एक न्यूज रिपोर्ट में आधार की जानकारी आसानी से उपलब्ध होने की रिपोर्ट छापी गई थी, जिसके बाद आधार की गोपनीयता को सुरक्षित करने के लिए सरकार ने यह घोषणा की है।

नए प्रणाली के तहत, आधार कार्ड धारकों को सत्यापन के वक्त अपना आधार कार्ड नंबर साझा नहीं करने का विकल्प मौजूद रहेगा। इसके बदले 16 अंकों का वर्चुअल आईडी नंबर जारी किया जा सकता है, जिसका इस्तेमाल बिना आधार नंबर दिए ही सत्यापन के लिए किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: इंदिरा गांधी बनेंगी विद्या बालन, किताब के अधिकार हासिल किए

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

RELATED TAG: Congress, Chidambaram Aadhar, Chidambaram Uiadi, Aadhar, Virtual Id,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो