IDFC बैंक और कैपिटल फर्स्ट का होगा विलय, 1 अप्रैल 2018 से होंगे एक

  |   Updated On : January 13, 2018 07:50 PM
IDFC बैंक और कैपिटल फर्स्ट का होगा विलय (सांकेतिक फोटो)

IDFC बैंक और कैपिटल फर्स्ट का होगा विलय (सांकेतिक फोटो)

नई दिल्ली:  

आईडीएफसी बैंक ने शनिवार को गैर-बैकिंग वित्तीय कंपनी कैपिटल फर्स्ट के साथ विलय की घोषणा की। दोनों के इस विलय से कंपनी संयुक्त रुप से 88,000 करोड़ रुपये संचय करेगी।

आईडीएफसी बैंक ने बीएसई (बम्बई स्टॉक एक्सचेंज) को एक नियामकीय फाइलिंग में यह जानकारी दी। कंपनी ने बताया, 'आईडीएफसी बैंक के निदेशक मंडल ने कैपिटल फर्स्ट लि., कैपिटल फर्स्ट होम फाइनेंस लि. और कैपिटल फर्स्ट सिक्यूरिटीज लि. के साथ एकीकरण की समग्र योजना को मंजूरी दे दी है।'

विनियामकीय फाइलिंग में कहा गया है कि निदेशक मंडल ने बिपिन जेमानी को अंतरित मुख्य वित्त अधिकारी और प्रमुख प्रबंधकीय कार्मिक के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी, जो कि 13 जनवरी से प्रभावी होगी।

दिसंबर में बढ़ी खुदरा मंहगाई दर, औद्योगिक उत्पादन में आई तेज़ी

इस सिलसिले में दोनों कंपनियों के बोर्ड ने भी बैठक की थी। बोर्ड बैठक में इस बात पर सहमति बनी कि आईडीएफसी बैंक ने 139:10 के अनुपात के शेयर स्वैप पर बात बनी है।

इसका मतलब आईडीएफसी बैंक कैपिटल फर्स्ट के प्रत्येक 10 शेयर पर 139 शेयर जारी करेगी। शुक्रवार को आईडीएफसी बैंक का शेयर डेढ़ फीसदी नीचे 67.75 के स्तर पर बंद हुआ था जबकि कैपिटल फर्स्ट का शेयर आधा फीसदी चढ़कर 835 रुपये पर बंद हुआ था।

यह भी पढ़ें: इंदिरा गांधी बनेंगी विद्या बालन, किताब के अधिकार हासिल किए

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें   

RELATED TAG: Capital First Idfc Bank, Idfc Deal, News In Hindi, Business News,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो