Breaking
  • INDvSL तीसरा वनडे: भारत ने टॉस जीतकर लिया गेंदबाजी का फैसला
  • असम के धेमाजी में आया 4.2 तीव्रता का भूकंप
  • सुरक्षा बलों ने बारामुला के पट्टन इलाके में सर्च ऑपरेशन किया लॉन्च
  • पाकिस्तान सरकार ने जाधव की पत्नी और मां के वीजा को किया मंजूर
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी सांसद और पद अधिकारियों को दिया डिनर का न्योता
  • मध्यप्रदेश: कांग्रेस नेता कमल नाथ पर बंदूक तानने वाले पुलिस कांस्टेबल के खिलाफ FIR दर्ज
  • अमृतसर, जालंधर और पटियाला की 32 नगर परिषदों और नगर पंचायतों पर मतदान हुआ शुरू
  • गुजरात चुनाव: आज 6 बूथों पर फिर से होगा मतदान

2019 में EVM के बदले बैलेट पेेपर से हुआ मतदान तो सत्ता से बेदखल हो जाएगी बीजेपी: मायावती

  |  Updated On : December 02, 2017 02:22 PM
मायावती, BSP सुप्रीमो (फाइल फोटो)

मायावती, BSP सुप्रीमो (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  मायावती बोलीं- आम चुनाव में बैलेट पेपर का इस्तेमाल हुआ तो सत्ता से बाहर होगी बीजेपी
  •  मायावती ने दी बीजेपी को चुनौती कहा अगर इतना है विश्वास तो बैलेट पेपर से कराए चुनाव
  •  यूपी निकाय चुनाव पर बीएसपी को मिली मात्र 2 सीट, कांग्रेस, एसपी का सूपड़ा साफ

 

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) को मिली जीत के लिए बीएसपी (बहुजन समाज पार्टी) सुप्रीमो मायावती ने ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) में गड़बड़ी को जिम्मेदार ठहराया है।

मायावती ने कहा है कि अगर बीजेपी सही है और लोकतंत्र में विश्वास करती है तो उसे ईवीएम मशीन की जगह बैलेट पेपर से मतदान कराना चाहिए।

उन्होंने कहा, '2019 में आम चुनाव होने हैं। अगर बीजेपी को लगता है कि लोग उसके साथ है उन्हें इसे तुरंत लागू करना चाहिए। मैं गारंटी दे सकती हूं कि अगर बैलेट पेपर्स का इस्तेमाल होगा तो बीजेपी सत्ता में वापस नहीं आएगी।'

यूपी निकाय चुनाव में बीजेपी के बाद बीएसपी ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए मेरठ और अलीगढ़ के मेयर की सीट पर कब्जा कर लिया है। इस चुनाव में पार्टी सुप्रीमो मायावती ने सीधे प्रचार नहीं किया, लेकिन सब कुछ उनकी निगरानी में हुआ।

यूपी के निकाय चुनाव में 16 महापौर की सीट में से 14 बीजेपी को हासिल हुईं जबकि बीएसपी के खाते में 2 सीटें गई। वहीं कांग्रेस और एसपी दोनों पार्टियां अपना खाता भी नहीं खोल पाईं।

पिछले लोकसभा चुनाव और यूपी विधानसभा चुनाव में भारी हार के बाद से ही मायावती ईवीएम के बदले बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने की मांग करती रही हैं। मायावती की इस मांग का अन्य विपक्षी दल भी समर्थन कर चुके हैं।

वहीं विपक्ष के चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप पर उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने हार के लिए वोट बैंक की राजनीति को जिम्मेदार बताया है। 

शर्मा ने कहा, 'ईवीएम में कमी नहीं है लेकिन पार्टी में और लोगों के दिमाग में कमी है। वह जाति के नाम पर राजनीति करते हैं और लोगों ने उन्हें खारिज कर दिया है। हम जाति, धर्म, समुदाय से ऊपर उठकर सभी लोगों के लिए काम कर रहे हैं और लोगों ने इसे स्वीकार किया है।'

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 11: शिल्पा शिंदे ने विकास गुप्ता के लिए किया डांस, जानें क्यों?

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

RELATED TAG: Bsp, Mayawati, Bjp, Evm, Up Civic Polls,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो