शशि थरूर 'हिंदू पाकिस्तान' वाले बयान पर कायम, बीजेपी बोली, राहुल मांगे मांफी, कांग्रेस ने किया किनारा

  |   Updated On : July 12, 2018 07:58 PM
थरूर अपने बयान पर कायम (फाइल फोटो)

थरूर अपने बयान पर कायम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

कांग्रेस नेता शशि थरूर के 'हिंदू पाकिस्तान' वाले बयान पर बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से थरूर के बयान को स्पष्ट करने और माफी मांगने की मांग की।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को शशि थरूर के बयान पर मांफी मांगनी चाहिए।

बीजेपी ने थरूर के बयान को वोट बैंक पॉलिटिक्स से जोड़ते हुए कहा, 'इससे पहले भी कांग्रेस की महत्वकांक्षा की वजह से ही पाक का निर्माण हुआ था। एक बार फिर से अपनी महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए कांग्रेस भारत और हिंदुंओं को नीचा गिराने का काम कर रही है।'

संबित पात्रा ने कहा, 'हिंदू पाकिस्तान कहकर आपने भारतीय लोकतंत्र पर हमला किया है, कांग्रेस ने देश के हिंदुओं पर हमला किया है। यह निंदनीय है। मोदी से नफरत करने के दौरान यह कांग्रेस की फितरत हो गई है। उन लोगों ने सभी सीमाओं को पार कर दिया है और उन्होंने अब देश पर हमला करना शुरू कर दिया है।'

और पढ़ें- दिल्ली में कूड़े के ढेर पर उपराज्यपाल को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार 

उन्होंने कहा, 'कांग्रेस अपनी महत्वाकांक्षा के लिए पाकिस्तान के निर्माण की जिम्मेदार है और पार्टी एक बार फिर भारत को अपमानित और देश के हिंदुओं को बदनाम कर रही है। देश राहुल गांधी से यह स्पष्टीकरण मांगता है कि कैसे आपकी पार्टी इस खूबसूरत देश की सुदंरता का लगातार अपमान कर रही है। आप ऐसा नहीं कर सकते।'

वहीं कांग्रेस ने शशि थरूर के बयान से किनारा करते हुए कहा है कि भारत का लोकतंत्र और इसके मूल्य इतने मजबूत हैं कि 'भारत कभी पाकिस्तान' बनने की स्थिति में नहीं जा सकता।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीटर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'मोदी सरकार पिछले 4 सालों से विभाजन, कट्टरता, नफरत, असहिष्णुता और ध्रुवीकरण का माहौल तैयार करने में लगी है। दूसरी तरफ कांग्रेस बहुलवाद, विविधता और करुणा के मूल्यों व जाति-धर्म के बीच सद्भाव का प्रतिनिधित्व करती है। भारत के मूल्य और बुनियादी सिद्धांत हमारी सभ्यता की भूमिका की एक स्पष्ट गारंटी है और हमें पाकिस्तान के विभाजनकारी विचार से अलग करते हैं। बीजेपी की नफरत का तिरस्कार करने के लिए शब्दों और वाक्यों का चयन करते समय सभी कांग्रेस नेताओं को उस ऐतिहासिक जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए, जो हमें दी गई है।'

और पढ़ें- बिहार: नीतीश से मिलने के बाद शाह का ऐलान, जेडीयू से नहीं टूटेगा गठबंधन 

इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने शशि थरूर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुआ कहा, 'हमारा देश सर्वधर्म का सम्मान करता है। पूरी दूनिया को अपना परिवार मानता है, सभी को एक ही तरह का सम्मान मिलता है। हम चींटी से लेकर हाथी तक को पूजते हैं, 250 से ज्यादा भगवानों को पूजते हैं। भारतवर्ष या हिंदू धर्म कभी किसी एक सोच या एक विचारधारा के अंदर सीमित नहीं हो सकता। कांग्रेस शशि थरूर के बयान से सहमत नहीं है।'

हालांकि कांग्रेस नेता शशि थरूर अभी भी अपने बयान पर कायम है। थरूर ने कहा कि बीजेपी-आरएसएस का हिंदू राष्ट्र का विचार पड़ोस (पाकिस्तान) के 'असिहष्णु धर्मशासित राज्य' का प्रतिबिंब है।

थरूर ने फेसबुक पर लिखा, 'मैंने इसे पहले भी कहा है और आगे भी कहूंगा। पाकिस्तान का निर्माण ऐसे देश के रूप में किया गया था जहां धर्म का प्रभुत्व है, जो अपने अल्पसंख्यकों के खिलाफ भेदभाव करता है और उन्हें बराबरी का हक देने से इनकार करता है। भारत ने कभी भी ऐसे तर्क को स्वीकार नहीं किया है जो देश को बांटता हो। लेकिन, बीजेपी-आरएसएस का हिंदू राष्ट्र का विचार पाकिस्तान का ही प्रतिबिंब है जहां एक धार्मिक बहुसंख्यक समुदाय अपने देश के अल्पसंख्यकों को अधीनस्थ स्थान पर रखना चाहता है।'

थरूर ने आगे लिखा, 'यह एक हिंदू पाकिस्तान होगा और यह वह नहीं है जिसके लिए हमारा स्वतंत्रता अभियान लड़ा गया था और न ही इस तरह का भारत का विचार हमारे संविधान में सन्निहित है।'

और पढ़ें- सेंसेक्स ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 36,548 के ऐतिहासिक आंकड़े को किया पार 

सांसद ने कहा कि उनके जैसे हिंदू अपने विश्वास के समावेशी प्रकृति की सराहना करते हैं और जिन्हें वैसे रहने की कोई इच्छा नहीं है, जैसे हमारे पाकिस्तानी पड़ोसी एक असहिष्णु धर्म शासित राज्य में रहने के लिए मजबूर हैं।

थरूर ने कहा, 'हम भारत को संरक्षित करना चाहते हैं और अपने प्यारे देश को पाकिस्तान के एक हिंदू वर्जन में नहीं बदलना चाहते हैं।'

गौरतलब है कि बुधवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केरल के तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरुर ने कहा, 'अगर बीजेपी दोबारा लोकसभा चुनाव जीतती है तो हमारा लोकतांत्रिक संविधान वैसा नहीं रह जाएगा जैसा हम जानते हैं।'

उन्होंने कहा कि दोबारा बीजेपी के जीतने के बाद उनके पास भारत के संविधान की धज्जियां उड़ाने के लिए सब कुछ होगा और वे एक नया संविधान लिखेंगे।

शशि थरूर ने कहा, 'वो नया संविधान हिंदू राष्ट्र के संजोए गए सिद्धांतों पर होगा जो अल्पसंख्यकों के लिए समानता को मिटा देगा। जिससे हिंदू पाकिस्तान की स्थापना हो जाएगी।'

और पढ़ें- बीजेपी 2019 लोकसभा चुनाव में दोबारा जीतेगी तो देश हिंदू पाकिस्तान बन जाएगा: शशि थरूर

RELATED TAG: Shashi Tharoor, Hindu, Pakistan, Bjp, Congress,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो