Breaking
  • प्रदुम्न मर्डर केस: SC ने पिंटो परिवार की अंतरिम जमानत के खिलाफ दायर याचिका की खारिज
  • राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने की घोषणा आज, 2019 लोकसभा जीतने के लिए ये होगी चुनौती -Read More »

हरियाणा : भारतीय किसान संघ ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा, 'खेती छोड़ो जेल भरो' आंदोलन शुरू

  |  Updated On : October 10, 2017 11:40 AM
भारतीय किसान संघ ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा

भारतीय किसान संघ ने खोला सरकार के खिलाफ मोर्चा

नई दिल्ली:  

करनाल में खेतों में पुवाल जलाने के मामले में भारतीय किसान संघ (बीकेयू) किसानों के समर्थन में आ गया है। सरकार द्वारा बनाए गये नियम के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए भारतीय किसान संघ ने 'खेती छोड़ो जेल भरो' का नारा दिया।

भारतीय किसान संघ के अध्यक्ष रतन मान ने कहा, 'सरकार गलत कानून बनाकर किसानों को जेल भेज रही है। हम इसके खिलाफ विभिन्न स्थानों पर 'खेती छोड़ो जेल भरो' आंदोलन कर रहे हैं।'

भारतीय किसान संघ ने मंगलवार को हरियाणा कुरुक्षेत्र जिले के लादावा में विरोध प्रदर्शन किया। मान ने आरोप लगाया कि सरकार किसानों को निशाना बना रही है, जबकि ज्यादा प्रदूषण कारखानों से निकलने वाले धुएं से हो रहा है।

यह भी पढ़ें: पांच महीनों में दोगुना मेट्रो किराया, आम आदमी को बिल्कुल न भाया

मान ने कहा, 'बड़े कारखाने और पटाखे भी पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इन कारखानों को क्यों नही बंद कर देना चाहिये और क्या पटाखों पर बैन नहीं लगना चाहिये? उत्पादकता बनाए रखने के लिए पुवाल जलाने के अलावा किसानों के पास कोई अन्य विकल्प नहीं है।'

उन्होंने यह भी कहा कि अगर सभी किसानों को मुआवजे के रूप में 40,000 रू प्रति एकड़ दिया जाये तो किसान इस अभ्यास को बंद कर देंगे।

खेतों में पुवाल जलाना अधिकारियों के लिए एक बड़ी चिंता का विषय बन गया है क्योंकि इससे वायु प्रदूषण तो होता है और साथ ही मिट्टी की उर्वरता भी कम होती है। इसी को ध्यान में रखते हुये सरकार ने जिला प्रशासन को खेतों में पुवाल जलाने वाले लोगों पर सख्त कारवाई करने को कहा है।

यह भी पढ़ें: केरल लव जिहाद मामला: वकील की दलील पर सुप्रीम कोर्ट हुआ नाराज, कहा- यह राजनीतिक मंच नहीं

RELATED TAG: Bharatiya Kisan Union, Bku,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो