कांग्रेस ने किया देश की सुरक्षा से समझौता, राफेल डील पर राहुल गांधी फैला रहे झूठ: अरुण जेटली

जेटली ने अपने ब्लॉग में राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने कीमतों को लेकर जो भी आरोप लगाए हैं, वो तथ्यात्मक रूप से पूरी तरह गलत हैं।

  |   Updated On : August 29, 2018 02:50 PM
वित्त मंत्री अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली

नई दिल्ली:  

कांग्रेस की ओर से केंद्र की मोदी सरकार पर राफेल डील को लेकर खोले गए मोर्चे के खिलाफ आज (बुधवार) वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जमकर बरसे। उन्होंने कांग्रेस की ओर से पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए कहा कि राफेल डील के मुद्दे पर कांग्रेस झूठ फैला रही है। वित्त मंत्री ने इसको लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बाकायदा एक ब्लाग भी लिखा और आंकड़े गिनाते हुए राहुल पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।

जेटली ने अपने ब्लॉग में राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने कीमतों को लेकर जो भी आरोप लगाए हैं, वो तथ्यात्मक रूप से पूरी तरह गलत हैं।

उन्होंने कहा कि 2007 के राफेल ऑफर को लेकर राहुल गांधी खुद अलग-अलग भाषण के दौरान 7 तरह के दाम बता चुके हैं। वह जिस तरह की बात कर रहे हैं, वह प्राइमरी स्कूल के स्तर की डिबेट है।

और पढ़ें: चिदंबरम ने राफेल डील पर उठाए सवाल कहा इस मुद्दे की हो गहन जांच

जेटली ने कहा कि राहुल कह रहे हैं कि हम 500 से कुछ ज्यादा दे रहे थे और आप 1600 रुपये से कुछ अधिक दे रहे हैं। इस तरह के तर्कों से पता चलता है कि उनकी समझ कितनी कम है।

वित्त मंत्री ने कहा कि 2007 के मुकाबले 2015 में हुई राफेल डील के दाम के मुकाबले कहीं बेहतर है।

जेटली ने उल्टा राहुल से सवाल करते हुए कहा कि मैं जानना चाहता हूं कि इस डील को लेकर अनिश्चितकाल तक की देरी क्यों की गई। आखिर यूपीए ने इस डील को कोल्ड स्टोरेज में क्यों डाला?

और पढ़ें: जानें राफेल डील की A-Z जानकारी, इन 10 खूबियों के चलते चुना गया

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता एके एंटनी राफेल डील पर जवाब दें। आखिर क्यों यूपीए सरकार ने दस सालों तक इस डील को लटका कर रखा।

यहां पढ़ें अरुण जेटली का पूरा ब्लॉग

जेटली ने कहा कि इस तरह से राहुल गांधी की बयानबाजी राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंचाने वाली है। मुझे उम्मीद है कि राहुल गांधी और कांग्रेस इस पर जवाब देंगे।

देश की अन्य ताज़ा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें... 

जेटली ने कहा कि 2007 से बेहतर शर्त पर राफेल पर समझौता किया गया। राफेल पर राहुल गांधी की समझ कम है। लोडेड एयरक्राफ्ट का सिंपल एयरक्राफ्ट से तुलना नहीं की जा सकती है। सच्चाई पीड़ित बन गई है। राफेल डील के लिए 2015-16 तक करीब 14 महीने तक प्राइस निगोसिएशन कमिटी और कॉन्ट्रैक्ट कमिटी की कंपनी से मीटिंग हुई।
जेटली ने आरोप लगाया कि बोफोर्स घोटाला कर कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से समझौता किया

First Published: Wednesday, August 29, 2018 02:40 PM

RELATED TAG: Arun Jaitley, Congress, Bofors Scam, Rafale, Bharatiya Janata Party,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो