मोबाइल के एक क्लिक पर बजेंगे अलार्म, उठेंगे पर्दे, चलने लगेगा टीवी

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स और ऑटोमेशन के इस दौर में वह हर चीज संभव दिखती है जिसकी हम कल्पना करते हैं।

  |   Updated On : August 20, 2018 12:17 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:  

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स और ऑटोमेशन के इस दौर में वह हर चीज संभव दिखती है जिसकी हम कल्पना करते हैं। क्या आपने कभी सोचा था दिल्ली में बैठकर मुंबई के अपने घर के एसी को बंद कर सकते हैं और लाइट जला सकते हैं। जी हां यह संभव है मोबाइल के एक क्लिक पर। मोबाइल के एक क्लिक पर आपका सुबह का अलार्म बज उठेगा, दीवार के रंग बदल जाएंगे और खिड़की के पर्दे स्वत: उठ जाएंगे।

क्रेस्ट्रॉन इंडिया के कार्यकारी निदेशक गगन वर्मा ने कहा, 'क्रेस्ट्रॉन की प्रौद्योगिकी के जरिये आरामदायक जीवनशैली और सुविधाएं सबकुछ मिल सकती है। आप अपने घर पर कुर्सी पर बैठे-बैठे पसंदीदा फिल्म देख सकते हैं, अपने घर में रोशनी, शेड्स, तापमान और अलार्म प्रणाली को बिना बिस्तर से उठे नियंत्रित कर सकते हैं। आप जिन चीजों की परिकल्पना कर सकते हैं, वह सब क्रेस्ट्रॉन कर सकती है।'

गगन ने कहा कि 2017 से पहले क्रेस्ट्रॉन का भारत में कारोबार डीलर्स के जरिये संचालित होता था लेकिन डिजिटल इंडिया और आटोमेशन के इस दौर में इस क्षेत्र में व्यापक संभावानाएं देखते हुए कंपनी ने 2017 में भारत में 50 कर्मचारियों के साथ अपना कार्यालय खोला था। आज एक साल के भीतर ही कंपनी के भारत में सात शहरों में कार्यालय हैं और कर्मचारियों की संख्या 200 हो गई है। एक साल के दौरान कंपनी की विकास दर करीब 40 प्रतिशत रही है।

घरों, कार्यालयों, स्कूलों, अस्पतालों, होटलों व अन्य के लिए नियंत्रण और स्वचालित प्रणाली मुहैया कराने वाली क्रेस्ट्रॉन इलेक्ट्रॉनिक्स 40 सालों से इस कारोबार में है और कंपनी के दुनिया भर में 57 कार्यालय हैं।

गगन ने कहा, 'अब आपको घरों में टीवी देखने के लिए आपको ढेर सारे रिमोट्स या कमरे की दीवारों को स्विचेज और नॉब से भरने की जरूरत नहीं है, जिसमें आपको सही स्विच ढूंढने में मशक्कत करनी पड़ती थी। अब आप अपने घर को आपके स्लीक क्रेस्ट्रॉन टच स्क्रीन, डिजायनर एनग्रेव की पैड या अपने आईपैड, आईफोन या आईपैड टच का केवल एक बटन दबाकर नियंत्रित कर सकते हैं।'

उन्होंने कहा, 'चाहे आपको एवी (ऑडियो वीडियो) प्रेजेन्टेशन नियंत्रित करने की आवश्यकता हो, अंतर्राष्ट्रीय वीडियो कांफ्रेंस करना हो या अपने डिजिटल साइनेज को अपडेट करना हो। क्रेस्ट्रॉन के पास आपको इन सबसे कनेक्टेड रखने के लिए नियंत्रण प्रणाली है। आप अपने उद्यम को स्मार्ट तरीके से टिकाऊ बना सकते हैं और कार्बन फुटप्रिंट को ट्रैक करने के लिए क्रेस्ट्रॉन का इस्तेमाल कर सकते हैं, साथ ही इसकी मदद से अपने ऊर्जा लागत में भी कटौती कर सकते हैं।'

उन्होंने कहा, 'क्रेस्ट्रॉन की प्रणाली के उपयोग से आप अपने कार्यालय की रोशनी और एसी का तापमान नियंत्रित कर सकते हैं और केवल जरूरत पड़ने पर ही उसे सक्रिय कर सकते हैं। आप सीधे अपने आउटलुक या वेब ब्राउसर से कांफ्रेंस रूम की बुकिंग कर सकते हैं। इससे आपके उद्यम की लागत घटेगी और क्षमता में वृद्धि होगी।'

और पढ़ें: Jio GigaFiber के प्रिव्यू ऑफर में मिलेगा इतने GB फ्री डेटा, ऐसे कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

शिक्षा के क्षेत्र में ऑटोमेशन के महत्व को बताते हुए गगन वर्मा ने कहा, 'क्रेस्ट्रॉन प्रयोग में आसान प्रौद्योगिकी के माध्यम से शिक्षकों और प्रोफेसरों के पाठ्यक्रम को उन्नत बनाता है। आप केवल एक टच से डीवीडी चला सकते हैं या डाक्यूमेंट कैमरा का प्रयोग कर सकते हैं, या फिर पीसी से पॉवरप्वाइंट प्रेजेंटेंशन दे सकते हैं। क्रेस्ट्रॉन प्रशिक्षकों के लिए कक्षा प्रौद्योगिकी का उपयोग करना आसान बनाता है, और आईटी प्रबंधकों के लिए मानक आईपी नेटवर्क के माध्यम से सैकड़ों कमरे को कनेक्ट करना आसान बनाता है।'

और पढ़ें: पंजाब में हरियाली लाने के लिए मोबाइल ऐप के जरिए लगेंगे 13 लाख पौधे

उन्होंने कहा कि इसकी तकनीकी मदद से दुनिया के किसी भी हिस्से से रिमोटली क्लासरुम्स, लैब्स, कांफ्रेंस रुम्स और ऑडिटोरियम का प्रबंधन किया जा सकता है। किसी भी समय तापमान के मुताबिक कक्षाओं की लाइटिंग और एसी को नियंत्रित किया जा सकता है। इससे शिक्षकों का पूरा ध्यान प्रौद्योगिकी की बजाए पढ़ाने पर रहेगा। दुनिया की कई प्रमुख विश्वविद्यालय अब क्रेस्ट्रॉन कनेक्टेड परिसर में बदल चुकी है।

First Published: Monday, August 20, 2018 12:00 PM

RELATED TAG: Artificial Intelligence, Mobile Technology,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो