भारतीय संविधान जलाने वाला मुख्य आरोपी गिरफ्तार, साथ ही लगाए थे SC/ST विरोधी नारे

  |   Updated On : August 12, 2018 11:44 PM
भारतीय संविधान (फाइल फोटो)

भारतीय संविधान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

बीते 9 अगस्त को सवर्ण सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा एससी-एसटी ( SC-ST) एक्ट के विरोध के प्रदर्शन के दौरान भारतीय संविधान की किताब जलाने की घटना सामने आई थी। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने मुख्य आरोपी दीपक गौड़ को गिरफ्तार कर लिया है। जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि 9 अगस्त को दो संगठन यूथ इक्वालिटी फाउंडेशन (आजाद सेना) और आरक्षण विरोधि पार्टी ने पार्लियामेंट स्ट्रीट पर एक साथ विरोध किया था। आरोपी दीपक आरक्षण विरोधी पार्टी का मुखिया है, दूसरा संगठन के नेता का नाम अभिषेक शुक्ला है।

जानकारी के मुताबिक आरोपी अभिषेक और दीपक ने मिल कर संविधान जलाने की साजिश रची थी ताकि सरका एससी-एसटी एक्ट के संशोधन के खिलाफ ध्यान दें। साजिश के तहत दोनों ने अपने समर्थकों के साथ मिल कर संविधान की किताब जला दीऔर SC/ST विरोधी नारे भी लगाए।

और पढ़ें: तोड़फोड़ और दंगे की घटनाओं के लिए पुलिस अधीक्षक जैसे अफ़सरों की जवाबदेही हो तय: सुप्रीम कोर्ट

10 अगस्त को अखिल भारतीय भीम सेना के नेशनल इंचार्ज अनिल तंवर ने शिकायत दी थी, जिसके बाद पुलिस ने IPC 153 (A) , 505, 120B , 34 और The Prevention of Insults of National Honour Act के सेक्शन 2 के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

RELATED TAG: Constitution Burn Case, Constitution, Savarna Sena, Sc St Act, Protest, Delhi Police,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो