Breaking
  • उन्नाव रेप केस: आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 3 दिन की सीबीआई हिरासत में
  • LIVE RR Vs KKR : एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स आमने-सामने -Read More »
  • कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन -Read More »
  • SSC पेपर लीक मामला: सीबीआई ने दर्ज़ किया एफआईआर, देश के 12 अलग-अलग जगहों पर चल रहा है सर्च ऑपरेशन
  • एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास
  • कांग्रेस के जी परमेश्वर ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ
  • कर्नाटक: एच डी कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, सोनिया-राहुल भी मौजूद
  • दिल्ली: तैमूर नगर के एक ईमारत में लगी आग, 22 दमकल गाड़ियां मौक़े पर
  • भारतीय वायुसेना का चीता हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, कोई हताहत नहीं
  • दिल्ली: मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर कांग्रेस ने जारी किया पोस्टर, लिखा- 'विश्वासघात'
  • जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग के बिजबेहरा में ग्रेनेड अटैक, 6 लोग घायल
  • जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी गोलीबारी में मंगलवार रात से अब तक चार लोगों की मौत
  • तमिलनाडु: मद्रास हाई कोर्ट ने स्टरलाइट कंपनी के कॉपर स्मेलटर निर्माण पर लगाई रोक
  • गृह मंत्रालय ने तूतिकोरिन घटना को लेकर तमिलनाडु सरकार से मांगी रिपोर्ट
  • जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान की भारी गोलीबारी से कठुआ में एक की मौत, दो घायल
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह शुरू

मुंबई, चेन्नई समेत भारत के 20 शहरों में 13 करोड़ लोगों के बेघर होने का ख़तरा: रिपोर्ट

  |   Updated On : July 15, 2017 11:03 PM
बाढ़ से बढ़ा विस्थापन का ख़तरा (फाइल फोटो)

बाढ़ से बढ़ा विस्थापन का ख़तरा (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  भारत, पाकिस्तान तथा बांग्लादेश के निचले तटीय इलाकों में रहने वाले 13 करोड़ लोगों पर इस सदी के अंत तक बाढ़ के कारण विस्थापन का खतरा मंडरा रहा है
  •  साल 2050 तक एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सालाना बाढ़ के कारण भारी नुकसान वाले शीर्ष 20 देशों की सूची में मुंबई, चेन्नई, सूरत तथा कोलकाता शीर्ष 13 शहरों में शामिल होंगे

मनीला:  

भारत, पाकिस्तान तथा बांग्लादेश के निचले तटीय इलाकों में रहने वाले 13 करोड़ लोगों पर इस सदी के अंत तक बाढ़ के कारण विस्थापन का खतरा मंडरा रहा है।

एक रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि साल 2050 तक एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सालाना बाढ़ के कारण भारी नुकसान वाले शीर्ष 20 देशों की सूची में मुंबई, चेन्नई, सूरत तथा कोलकाता शीर्ष 13 शहरों में शामिल होंगे। 

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) तथा पोस्टडैम इंस्टीट्यूट फॉर क्लाइमेट इंपैक्ट रिसर्च (पीआईके) की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया को आर्थिक स्तर पर प्रभावित करने के अलावा बाढ़ के कारण क्षेत्र पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा, जिसकी आबादी लगभग चार अरब है।

जलवायु परिवर्तन उनके भविष्य के विकास को गंभीर रूप से प्रभावित करने के साथ ही मौजूदा विकास को नुकसान पहुंचाएगा और जीवन की गुणवत्ता को भी प्रभावित करेगा।

नॉर्थ-ईस्ट में बाढ़ से 58 जिले प्रभावित, 80 मौतें, रिजिजू ने लिया हालात का जायजा

रिपोर्ट के मुताबिक, तापमान बढ़ने से क्षेत्र की मौसम प्रणाली, कृषि व मत्स्य पालन क्षेत्र, भूमि व समुद्र जैव विविधता, घेरलू तथा क्षेत्रीय सुरक्षा, व्यापार शहरी विकास, प्रवास तथा स्वास्थ्य में भीषण बदलाव आएंगे।

दक्षिण भारत में चावल के उत्पादन में साल 2030 तक पांच फीसदी, 2050 तक 14.5 फीसदी तथा 2080 तक 17 फीसदी की कमी आएगी। यहां तापमान में एक डिग्री से अधिक की बढ़ोतरी होगी।

पीआईके में प्रोफेसर तथा निदेशक हंस जोअचिम शेह्लनहुबर के मुताबिक, पृथ्वी का भविष्य एशियाई देशों के हाथ में है।

पहाड़ी इलाक़ों में भारी बारिश की चेतावनी, उत्तर पूर्व और उत्तराखंड के कई हिस्से जलमग्न

RELATED TAG: Indians, Flood, Survey, 13 Crore People, Survey,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो