अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2017: अपनाये योग और रहें निरोग, जाने फायदे

By   |  Updated On : June 20, 2017 11:23 PM
योग

योग

नई दिल्ली :  

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। योग दिवस मनाने का मकसद योग से दीर्घ आयु प्रदान करना है। योग भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी शैली है। योगासन को कसरत या व्यायाम कहना गलत है। योग न सिर्फ मांसपेशियों को मजबूत करता है, बल्कि यह तनाव और अन्य शारीरिक समस्याओं को भी दूर करता है। लगातार नियमित रूप से आसान करने से शरीर में लचीलापन बना रहता है।

शारीरिक लचीलेपन से आंतरिक ऊर्जा तथा स्फूर्ति बढ़ती है, मन शांत रहता है। योग दिवस को सफल बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए इसकी जानकारी देनी शुरू कर दी है। योग की धूम सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में है। सिंगापुर के नेशनल स्टेडियम में आठ हजार लोगों ने योग किया।

योग के फायदे: 

  • योग न सिर्फ शरीर को बल्कि मन को शांत रखता है नियमित रूप से योग करने से आप तनाव और चिंताओं से मुक्त रहते है जिससे कि आपका मन शांत रहता है योग करने से मस्तिष्क के सोचने और सृजनात्मकता वाले हिस्सों का भी संतुलन बना रहता है।

  • हर इंसान को योग अलग रूप से फायदे पहुंचाता है योग को अपनाने से कई रोगों से मुक्त मिलती है बेहतर रक्तसंचार से शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को बेहतर प्रवहन होने में मदद मिलती है। ऑक्सीजन का संचार होने से ब्लड सर्कुलेशन ठीक होता है जो कि आपके मस्तिष्क और शरीर के लिए लाभदायक है

  • योग करने से मन और दिमाग दोनों को शांति मिलती है। इसे करने से पूरे शरीर में रक्तसंचार बेहतर होता है जिससे मस्तिष्क हल्का महसूस करता है जिससे कि तनाव कम होता है।

  • योग से शरीर का लचीलापन बढ़ता है इससे पीठ का दर्द जोड़ों का दर्द आदि में बेहद आराम मिलता है। इससे रीढ़ की हड्डी में दबाव और जकड़न से भी आराम मिलता है। योग से तनाव, चिंता, पीठ के दर्द के कष्टों को दूर करता है।

  • योगाभ्यास आपको चुस्त दुरुस्त ही नहीं करता बल्कि आपके शरीर को सुडौल एवं खूबसूरती प्रदान करता है। यह शरीर में जमा फालतू चर्बी को घटने में मदद करता है।

  • नियमित रूप से इसे करने से दिमाग शांत और शरीर ऊर्जावान रहता है। सिर दर्द और पीठ दर्द को दूर करने के लिए ये आसन लाभकारी है। अगर पैरों में दर्द हो तो इस आसन को करने से थकान और दर्द से राहत मिलती है।

  • मोटापा या बड़ा हुआ वजन कम करने के लिए यह आसान बेहद फायदेमंद है। जिन लोगों को गैस की दिक्‍कत है वो इस आसन का नियमित अभ्‍यास करें इससे आराम मिलता है। कब्ज से राहत पाने के लिए ये आसन अत्यंत लाभकारी है।

  • योगासन शरीर में शुद्ध रक्त का निर्माण और संचार करता है। मधुमेह, ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए यह आसान बहुत फायदेमंद है। इसे करने से महिलाओं में मासिक धर्म संबंधी रोग दूर होते हैं।

  • प्रत्येक दिन कुछ मिनट का योग आपको पूरे दिन ताजगी और ऊर्जा से भरा रखता हैं। नियमित व्यायाम ,योग करने से आपका दिमाग और मन शांत रहता है

  • नींद न आना, अनिद्रा या बार-बार नींद से उठ जाने की आदत योगासन की मदद से ठीक किया जा सकता है योग करने से तमाम रोगों से मुक्ति मिलती है

और पढ़ें: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2017: योग की शुरुआत करें इन आसान आसनों से

योग की उत्पत्ति
योग को भारत के स्वर्ण युग करीब 26,000 साल पहले की देन माना जाता है। योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत धातु 'युज' से निकला है, जिसका मतलब व्यक्तिगत चेतना या आत्मा का सार्वभौमिक चेतना या रूह से मिलन होता है। योग को हिंदु धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। माना जाता है योगसूत्र को महर्षि पतंजलि ने 200 ई. पूर्व लिखा था। इस ग्रंथ पर अब तक हजारों भाषा में लिखा जा चुका हैं।

योग हिन्दू धर्म के छह दर्शनों में से एक है। योग बौद्ध धर्म में भी ध्यान के लिए अहम माना जाता है। योग का संबंध इस्लाम और ईसाई धर्म के साथ भी है।

और पढ़ें: महर्षि पतंजलि थे योग के जनक, जानिए कैसे हुई शुरूआत

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो