World Organ Donation Day 2017: अंग दान से जुड़े मिथ को करें दूर, जानें कुछ जरूरी बातें

By   |  Updated On : August 13, 2017 11:07 AM
विश्व अंगदान दिवस

विश्व अंगदान दिवस

नई दिल्ली:  

दुनियाभर में 13 अगस्त को विश्व अंगदान दिवस मनाया जाता है और इसके प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। ऑर्गन इंडिया के मुताबिक भारत में दो लाख कॉर्निया ट्रांसप्लांट की जरूरत है लेकिन सिर्फ 50 हजार कॉर्निया ही डोनेट हो पाते है। ऑर्गन ट्रांसप्लांटेशन का इंतजार करने वाले मरीज करीब 586 हवाईजहाज़ में भरे जा सकते है इसका मतलब ये है कि करीब पांच लाख लोग ट्रांसप्लांटेशन के इंतजार में है

किस अंग की भारत में कितनी जरूरत ? 

21,000- किडनी 
5,000- जिगर
2,00,000- लिवर

कितने अंग उपलब्ध ?

5000- किडनी
70- जिगर
750- लिवर

और पढ़ें: केरल: ब्रेन डेड होने के बाद छात्र के अंग किये गए डोनेट

अंग दान को लेकर आपके मन में कई सवाल उठते होंगे, इसे जुड़े कई मिथ भी अपने सुनेंगे। इन्ही के जवाब टाइम्स ऑर्गन डोनेशन ड्राइव ने दिए है

  • अगर मैं अंगदान के लिए राजी हो जाता हूं तो इमरजेंसी रूम में मौजूद स्टाफ मेरी जिंदगी बचाने के लिए ज्यादा प्रयास नहीं करेंगे। किसी और को बचाने के लिए वे मेरे अंग जल्द से जल्द निकाल लेंगे। 

जब आप अस्पताल में ट्रीटमेंट के लिए जाते है तब डॉक्टर की पहली ड्यूटी आपकी जिंदगी को बचाना है। आपकी देखभाल कर रहे डॉक्टर का ट्रांसप्लांटेशन से कोई संबंध नहीं है इसके अलावा, कुछ अंग दान केवल ब्रेन डेथ के बाद किया जाता है।

  • मैं 18 साल से कम उम्र का हूं। मैं यह निर्णय लेने के लिए बहुत छोटा हूं।

बिलकुल सही, अंगदान करने से पहले माता-पिता की इजाजत लेना बेहद जरूरी है। आप अपने पेरेंट्स को अपनी इच्छा के बारे में बताएं। न सिर्फ वयस्क बल्कि बच्चों को अभी अंगों की भी जरूरत होती है। ज्यादातर उन्हें छोटे अंगों की जरूरत पड़ती है।

  • अंग और टिश्यू दान मेरे शरीर को डिसफिगर कर देगा

यह बिलकुल गलत है। दान किए गए अंगों को सर्जरी की मदद से लिया जाता है, जो शरीर को डिसफिगर नहीं करता है।

  • मैं अंग दान करने के लिए बहुत बूढ़ा हूं कोई भी मेरे अंग ट्रांसप्लांट के लिए नहीं चाहेगा..

70 और 80 साल की उम्र के अंगों को सफलतापूर्वक दाताओं से ट्रांसप्लांट किया गया है यह निर्णय सख्त चिकित्सा मानदंडों पर आधारित है, न कि उम्र पर।

  • मेरी सेहत ठीक नहीं है और आंखें भी कमजोर है। कोई भी मेरे अंग या टिश्यू नहीं लेना चाहेगा। 

बहुत कम मेडिकल कंडीशन आपको डोनेट करने से मना कर सकती है। यह निर्णय सख्त चिकित्सा मानदंडों पर आधारित है। इस बात का पता लगाया जा सकता है कि कुछ अंग ट्रांसप्लांट के लिए ठीक है या नहीं हैं, लेकिन अन्य अंग और टिश्यू ठीक ट्रांसप्लांट हो सकते हैं।

  • अंग को दान करने के बाद मेरे स्वास्थ्य का क्या होगा?

अंग ट्रांसप्लांट करते समय कुछ कठिनाइयों का सामना कर पड़ता है जैसे इन्फेक्शन, खून का थक्का या दर्द। ये सब डोनर की सेहत, अंग और प्रक्रिया पर निर्भर करता है। 

  • लोग अंगों को खरीद और बेच सकते हैं ?

'मानव अंगों के प्रत्यारोपण अधिनियम' अंगों में किसी भी व्यावसायिक व्यवहार को प्रतिबंधित करता है और ऐसा करना एक दंडनीय अपराध बनाता है।

और पढ़ें: World organ donation day 2017: अंगदान के साथ नया जीवन देते है आप, जानें इससे जुड़े कुछ तथ्य

RELATED TAG: World Organ Donation Day, Organ Donation, Donor, Organ,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो