Breaking
  • Ind vs Sl : रोहित शर्मा ने एकदिवसीय मैचों मे लगाया तीसरा दोहरा शतक
  • अमेठी में राहुल के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन, जमीन वापसी की मांग -Read More »
  • दिल्ली में बढ़ते कोहरे के चलते 10 ट्रेन रद्द, 13 लेट
  • कोयला घोटाला : CBI कोर्ट ने झारखंड के पूर्व CM मधु कोड़ा को ठहराया दोषी

सावधान! मोटापे के शिकार मरीजों को बाइपास सर्जरी के बाद संक्रमण का खतरा

  |  Updated On : June 19, 2017 10:20 PM
मोटापा

मोटापा

नई दिल्ली :  

एक नए शोध में पता चला है कि मोटापे के शिकार रोगियों को हृदय की बाइपास सर्जरी कराने के 30 दिन बाद तक संक्रमण का खतरा रहता है। कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट के शोधकर्ता तसुकु टेरादा ने कहा, 'सामान्य बीएमआई वाले मरीजों की तुलना में हमने पाया है कि बीएमआई के 30 से अधिक रोगियों के साथ बाईपास सर्जरी के बाद संक्रमण की संभावना 1.9 गुना बढ़ जाती है।' 

रिसर्च टीम ने 56,722 रोगियों को जांच के दायरे में लिया और उनकी बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और विभिन्म परिणामों की कोरोनरी आर्टरी बाइपास ग्राफ्टिंग (सीएबीजी) और पक्र्यूटैनीयस कोरोनरी इंटरवेंशन (पीसीआई) रिपोर्ट तैयार की। पीसीआई को कोरोनरी एंजियोप्लास्टी भी कहा जाता है। 

और पढ़ें: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2017: अपनाये योग और रहें निरोग, जाने फायदे

यह रिपोर्ट कनाडा में हुए मोटापा शिखर सम्मेलन में भी प्रस्तुत की गई। 

अस्पतालों में सर्जरी के बाद संक्रमण वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है। इस कारण चिकित्सा लागत भी बढ़ जाती है। 

यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट की असिस्टेंट प्रोफेसर मैरी फरहान ने बताया, 'आगे की जांच से शोधकर्ताओं को संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए और यह सुनिश्चित करने के लिए कि रोगियों की उचित देखभाल हो रही है, इसके लिए उपकरण ईजाद करने में मदद मिलेगी।'

और पढ़ें: सोहेल खान ने कहा- सलमान भाई को कभी खुद पर हावी होते नहीं देखा

RELATED TAG: Bypass Surgery, Obesity, Heart,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो