Breaking
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव: बीजेपी-कांग्रेस ने जारी की स्टार कैंपेनर्स की लिस्ट
  • कर्नाटक सीएम सिद्धारमैया दो जगह से लड़ेंगे चुनाव, बदामी से भी नामांकन दाखिल करेंगे
  • IPL 2018 DD vs RCB: आरसीबी ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी का फैसला
  • पॉक्सो एक्ट में संशोधन के बाद स्वाति मालीवाल ने कल अनशन तोड़ने का किया ऐलान
  • पश्चिम बंगाल: पंचायत चुनाव के लिए नई नामांकन तिथि घोषित करेगा चुनाव आयोग: सूत्र
  • IPL 2018: कोलकाता ने किंग्स इलेवन पंजाब को दिया 192 रनों का लक्ष्य
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव: AIADMK ने उतारे 3 उम्मीदवार
  • 2002 हिट एंड रन केस: मुंबई सेशन कोर्ट ने सलमान खान के खिलाफ जमानती वॉरंट को रद्द किया
  • POCSO एक्ट में संशोधन को कैबिनेट की मंजूरी, 12 साल के छोटे बच्चों से रेप पर होगी फांसी
  • दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने बिटकॉइन रैकेट का किया पर्दाफाश, दो गिरफ्तार
  • चार दिवसीय यात्रा पर चीन और मंगोलिया जाएंगी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज
  • आसाराम रेप केस: 25 अप्रैल को आएगा फैसला, 30 अप्रैल तक जोधपुर में 144 धारा होगी लागू

सावधान! मोटापे के शिकार मरीजों को बाइपास सर्जरी के बाद संक्रमण का खतरा

  |   Updated On : June 19, 2017 10:20 PM
मोटापा

मोटापा

नई दिल्ली :  

एक नए शोध में पता चला है कि मोटापे के शिकार रोगियों को हृदय की बाइपास सर्जरी कराने के 30 दिन बाद तक संक्रमण का खतरा रहता है। कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट के शोधकर्ता तसुकु टेरादा ने कहा, 'सामान्य बीएमआई वाले मरीजों की तुलना में हमने पाया है कि बीएमआई के 30 से अधिक रोगियों के साथ बाईपास सर्जरी के बाद संक्रमण की संभावना 1.9 गुना बढ़ जाती है।' 

रिसर्च टीम ने 56,722 रोगियों को जांच के दायरे में लिया और उनकी बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और विभिन्म परिणामों की कोरोनरी आर्टरी बाइपास ग्राफ्टिंग (सीएबीजी) और पक्र्यूटैनीयस कोरोनरी इंटरवेंशन (पीसीआई) रिपोर्ट तैयार की। पीसीआई को कोरोनरी एंजियोप्लास्टी भी कहा जाता है। 

और पढ़ें: अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2017: अपनाये योग और रहें निरोग, जाने फायदे

यह रिपोर्ट कनाडा में हुए मोटापा शिखर सम्मेलन में भी प्रस्तुत की गई। 

अस्पतालों में सर्जरी के बाद संक्रमण वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है। इस कारण चिकित्सा लागत भी बढ़ जाती है। 

यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्ट की असिस्टेंट प्रोफेसर मैरी फरहान ने बताया, 'आगे की जांच से शोधकर्ताओं को संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए और यह सुनिश्चित करने के लिए कि रोगियों की उचित देखभाल हो रही है, इसके लिए उपकरण ईजाद करने में मदद मिलेगी।'

और पढ़ें: सोहेल खान ने कहा- सलमान भाई को कभी खुद पर हावी होते नहीं देखा

RELATED TAG: Bypass Surgery, Obesity, Heart,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो