World Mental Heath Day 2017: योग के इन 6 आसनों की मदद से डिप्रेशन को कहें अलविदा

  |  Updated On : October 10, 2017 03:57 PM

नई दिल्ली:  

आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में तनाव और डिप्रेशन बढ़ता ही जा रहा है इससे खत्म करने के लिए योग एक बेहद कारगार उपाय है हर साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस  21 जून को मनाया जाता है। योग दिवस मनाने का मकसद योग से दीर्घ आयु प्रदान करना है। योग भारतीय ज्ञान की पांच हजार वर्ष पुरानी शैली है। इन योग आसनों की मदद से आप डिप्रेशन या तनाव को कहे अलविदा

बालासन

बालासन

यह सबसे आसन है इसे करने से डिप्रेशन , तनाव से मुक्त मिलती है। नियमित और सही ढंग से आसन करने से कंधे और गर्दन के दर्द से राहत मिलती है। यह शरीर के संतुलन को ठीक करता है और रक्त संचार को सामान्य बनाने में भी फायदेमंद है।

हलासन

हलासन

हलासन का मतलब है किसान के हल की तरह शरीर को आकार देना। इस आसन से कमर व पेट की चर्बी कम होती है और पाचन क्रिया सामान्य करता है। सिरदर्द,नींद न आने की शिकायतों को इस आसन से दूर किया जा सकता है।

सेतुबंधासन

सेतुबंधासन

सेतुबंधासन मन को चिंताओं से मुक्त करता है और तनाव कम करके आराम देता है। मासिक धर्म व रजोनिवृति में होने वाली परेशानियों से राहत पाने के लिए ये आसन बेहद लाभकारी है।

उत्तनासन

उत्तनासन

इस आसन के जरिए हम अपने मन-मस्तिष्क को शांति की ओर ले जाते हैं। इस आसन को 2-2 मिनट के अंतराल पर करने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है। सिरदर्द और अनिद्रा से छुटकारा पाने के लिए ये आसान बेहद फायदेमंद है।

जनुसिर्सान

जनुसिर्सान

इस आसन को करने से मस्तिष्क में सकारात्मकता का सृजन होता है। निरंतर करने से तरो-ताज़ा और ऊर्जावान महसूस करने लगते हैं।

भुजंगासन

भुजंगासन

भुजंग का मतलब सर्प होता है, इसलिए भुजंग-आसन को 'सर्प आसन' भी कहा जाता है। अवसाद कम होने के साथ साथ शरीर में लचीलापन भी आता है। पेट और कमर दर्द से राहत पाने के लिए ये आसन बेहद फायदेमंद है।

RELATED TAG: International Yoga Day, Yoga, Asanas,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो