Breaking
  • पीएम नरेंद्र मोदी लंदन से जर्मनी पहुंचे, एंजेला मर्केल के साथ करेंगे डिनर
  • CBI ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पोक्सो कोर्ट में किया पेश, सात दिन की बढ़ाई कस्टडी
  • IPL 2018 CSK Vs RR: राजस्थान रॉयल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला
  • कश्मीरी युवक एनडीए एक्जाम पास करने के बाद हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल
  • महाभियोग से न्यायपालिका को डराने की कोशिश कर रही कांग्रेस
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट
  • कर्नाटक चुनाव: मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने चमुंदेश्वरी विधानसभा से नामांकन दाखिल किया
  • कांग्रेस ने CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस उप राष्ट्रपति को सौंपा
  • नरोदा पटिया दंगा मामला: गुजरात HC ने पीड़ितों की मुनाफा मांगने की अपील को खारिज किया
  • भारत के श्रीमंत झा ने एशियाई आर्मरेसलिंग चैंपियनशिप के 80 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता
  • नरोदा पाटिया दंगा मामला: माया कोडनानी को गुजरात HC ने बरी किया, बाबू बजरंगी की सजा बरकरार
  • SC ने महाभियोग को लेकर हो रही मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन की मांग पर अटॉनी जनरल 7 मई तक देंगे राय
  • चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग की चर्चा को सुप्रीम कोर्ट ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

मौसम विभाग का अनुमान, इस साल सामान्य रहेगा मानसून - कम बारिश की संभावना न के बराबर

  |   Updated On : April 16, 2018 07:13 PM
2018 में सामान्य रहेगा मानसून (फाइल फोटो)

2018 में सामान्य रहेगा मानसून (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  भारतीय कृषि की जीवन रेखा माने जाने वाले मानसून के इस साल सामान्य रहने की उम्मीद है
  •  मौसम विभाग की तरफ से जारी अनुमान में 2018 में 97 फीसदी बारिश होने की संभावना जताई गई है

नई दिल्ली :  

भारतीय कृषि की जीवन रेखा माने जाने वाले मानसून के इस साल सामान्य रहने की उम्मीद है। 

सोमवार को भारतीय मौसम विभाग की तरफ से जारी अनुमान में 2018 में 97 फीसदी बारिश होने की संभावना जताई गई है।

भारतीय अर्थव्यवस्था और नीति-निर्माताओं और किसानों के लिए राहत की खबर मानी जा रही है।

विभाग ने कहा कि सामान्य तौर पर 97 फीसदी बारिश होगी और इसमें प्लस-माइनस 5 फीसदी की कमी या बढ़ोतरी हो सकती है।

आईएमडी के महानिदेशक के जे रमेश ने कहा 'भारत में लगातार तीसरा सीजन मानसून सामान्य रहने जा रहा है।'

उन्होंने कहा, 'मानसून का लंबी अवधि (एलपीए) का औसत 97 फीसदी रहेगा जो कि इस मौसम के लिए सामान्य है। कम मानसून की 'बहुत कम संभावना' है।

96-104 फीसदी एलपीए को सामान्य मानसून माना जाता है, जबकि 104-110 फीसदी एलपीए को सामान्य से अधिक बारिश माना जाता है। वहीं एलपीए के 110 फीसदी से अधिक होने पर इसे 'अत्यधिक' कहा जाता है।

वहीं सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना 56 फीसदी बताई गई है, जबकि सामान्य से कम बारिश होने की संभावना या कम बारिश होने की संभावना 44 फीसदी है।

सामान्य बारिश की वजह से न केवल कृषि विकास को मदद मिलती है, बल्कि देश की अर्थव्यवस्था खासकर ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर इसका सकारात्मक असर होता है।

मौसम विभाग की तरफ से जारी अनुमान में कहा गया है कि चार महीनों के दौरान मानसून में हर क्षेत्र में बराबर बारिश होने का अनुमान है।

गौरतलब है कि इससे पहले मौसम का पूर्वानुमान लगाने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने भी 2018 में मानसून के सामान्य रहने की संभावना जताई थी।

और पढ़ें: कठुआ रेप : केस ट्रांसफर पर SC ने महबूबा सरकार से मांगा जवाब

RELATED TAG: Monsoon 2018, Imd, Monsoon In India, Weather Forecast,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो