12 बड़े डिफॉल्टर्स में शामिल लैंको इंफ्राटेक को दिवालिया करेंगे बैंक, 2 दिन में 30 फीसदी तक टूट गया शेयर

By   |  Updated On : June 20, 2017 11:40 AM
लैंको इंफ्राटेक (फाइल फोटो)

लैंको इंफ्राटेक (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

देश के 12 खातों पर ही बैंकों के 2 लाख करोड़ रुपये के बकाये के खुलासे के बाद भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) से रिकवरी के मिले आदेश पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू होने के बाद लैंकों इंफ्राटेक दिवालिया होने वाली पहली कंपनी बनेगी। लैंकों पूर्व कांग्रेसी सांसद एल मधुसूदन राव की कंपनी है।

आईडीबीआई बैंक की ओर से बकाया रकम की वसूली की प्रक्रिया शुरू करने के बाद लैंको इंफ्राटेक दिवालिया होने की कार्रवाई का सामना करेगी। रिज़र्व बैंक ने आईडीबीआई बैंक को लोन रिकवर करने के लिए दिवालिये की प्रक्रिया शुरु करने के निर्देश दिए हैं। इस ख़बर के बाद लैंको इंफ्राटेक का शेयर पिछले दो दिनों में करीब 30 फीसदी तक टूट गया है।

केयर्न पर आयकर विभाग का शिकंजा, पुराने सौदे पर 10 हज़ार करोड़ रुपये टैक्स चुकाने का आदेश

बीएसई पर बीते 52 हफ्ते (1 साल) में कंपनी के शेयर में यह सबसे ज़्यादा गिरावट थी। मंगलवार को सुबह कारोबार के दौरान लैंकों के शेयर में करीब 10 प्रतिशत की गिरावट आई। कंपनी के शेयर में फिलहाल  निचला सर्किट लगा हुआ है। 

लैंको इंफ्राटेक उन 12 कंपनियों में शामिल है जिसे रिज़र्व बैंक ने एनपीए की लिस्ट में शामिल किया था और जिनसे लोन रिकवरी के लिए रिज़र्व बैंक ने इंसोलवेसी और बैंकरप्सी कोड के तह्त कार्रवाई शुरू करने की बात कही थी।

कंपनी पर कुल कर्ज 17,000 करोड़ रूपये है। सुबह कारोबार खुलते ही एनएसई पर शेयर 9.57 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1.75 के स्तर पर लुढ़क कर निचला सर्किट लग गया।

मनोरंजन: 'जब हैरी मेट सेजल' का दूसरा मिनी ट्रेलर आउट, अनुष्का शर्मा ने शाहरुख खान से साइन कराया एक बॉन्ड!

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे