भारतीय रिजर्व बैंक के पास निर्णय लेने की हो स्वतंत्रता: आईएमएफ रिपोर्ट

  |   Updated On : December 22, 2017 10:44 AM
रिजर्व बैंक की ताकत बढ़ानी होगी: आईएमएफ

रिजर्व बैंक की ताकत बढ़ानी होगी: आईएमएफ

नई दिल्ली:  

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को निर्णय लेने के मामले में और मजबूत बनने की नसीहत दी है।

आईएमएफ रिपोर्ट में कहा गया है कि आरबीआई के पास स्वतंत्रता होनी चाहिए फिर चाहे वो बैंक बोर्ड में सरकार द्वारा नियुक्त निदेशकों को हटाने का अधिकार ही क्यों न हो?

आरबीआई ने कहा है कि लोन का वर्गीकरण और नियम वित्तिय घाटे को देखते हुए और विशेष लोन की कैटेगरी को खत्म करने की नियत से बनना चाहिए।

आईएमएफ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, 'इसमें आरबीआई की स्वतंत्रता के साथ साथ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के मामले में इसकी ताकत बढ़ाना भी खास तौर पर जरूरी है। साथ ही वित्तीय नियंत्रक के संसाधनों को बढ़ाना भी।'

आईएमएफ ने कहा है कि भारत सार्वजनिक बैंकों के कर्ज से परेशान है।

आईएमएफ ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि कर्ज देने वाले बड़े संस्थान सुदृढ़ हैं, 'लेकिन तंत्र की अपनी कई बड़ी कमजोरियां हैं।'

इस रिपोर्ट का आकलन आईएमएफ ने अपनी वित्तीय प्रणाली स्थिरता (एफएसएसए) के जरिए किया है।

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED TAG: Rbi, Imf Report,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो