Breaking
  • मिस्र के उत्तरी प्रांत सिनाई में आतंकी हमला, 75 लोगों के घायल होने की खबर
  • Ind Vs SL: श्रीलंका पहली पारी में 205 रन पर ऑल-आउट

NPA मामले में गुजरात हाई कोर्ट से नहीं मिली राहत, कंपनी पर बैंकों का 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज

  |  Updated On : July 17, 2017 07:43 PM
एस्सार स्टील को गुजरात हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत (फाइल फोटो)

एस्सार स्टील को गुजरात हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  एस्सार स्टील को करारा झटका देते हुए बैंकरप्सी के मामले में कंपनी की याचिका खारिज
  •  एस्सार स्टील बैंकों का करीब 40,000 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुका पाया है
  •  हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद बैंकों के लिए कंपनी से कर्ज की वसूली आसान हो जाएगी

नई दिल्ली :  

गुजरात हाईकोर्ट ने एस्सार स्टील को करारा झटका देते हुए बैंकरप्सी के मामले में उसकी याचिका खारिज कर दी है।

एस्सार स्टील बैंकों का करीब 40,000 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुका पाया है और हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद बैंकों के लिए कंपनी से कर्ज की वसूली आसान हो जाएगी।

गौरतलब है कि बैंकिंग नियमन अध्यादेश में परिवर्तन के बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने उन 12 कंपनियों की सूची जारी कर दी थी, जिनके ऊपर 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है। इन कंपनियों के पास देश के कुल एनपीए का 25 फीसदी हिस्सा है।

देश के बैंकों का कुल एनपीए करीब 8 लाख करोड़ रुपये है और इसमें से करीब 2 लाख करोड़ रुपये इन 12 कंपनियों के पास है।

एक्शन में RBI: मार्च 2019 तक निपटा दिया जाएगा बैंकों के 8 लाख करोड़ रुपये का NPA

एस्सार स्टील ने डूबे कर्ज के मामले में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के फैसले को चुनौती दी थी। आरबीआई ने एस्सार स्टील के मामले को कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल यानी सीएलटी में भेज दिया था।

बैंकरप्सी एंड इनसॉल्वेंसी कोड के तहत कार्रवाई करते हुए आरबीआई ने इस मामले को सीएलटी को भेज दिया है। एस्सार स्टील ने आरबीआई पर भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए गुजरात हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

86,000 करोड़ रुपये के एस्सार ऑयल-रोसनेफ्ट सौदे को हरी झंडी

RELATED TAG: Gujarat Hc, Essar Steel, Npa, Rbi, Banks,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो