Breaking
  • मोदी सरकार की नीतियों पर बोले राहुल, कहा- चीन से मुकाबले के लिए अभी और काम की ज़रुरत -Read More »
  • भूकंप से मेक्सिको में तबाही, मृतकों की संख्या बढ़कर 139 हुई -Read More »

बढ़ते आयात से देश का चालू खाता घाटा 4 साल के उच्चतम स्तर पर

By   |  Updated On : September 16, 2017 09:53 AM
बढ़ते आयात से देश का चालू खाता घाटा 4 साल के उच्चतम स्तर पर

बढ़ते आयात से देश का चालू खाता घाटा 4 साल के उच्चतम स्तर पर

नई दिल्ली:  

जून की तिमाही में भारत के चालू खाता घाटे में चार साल की सबसे अधिक तेजी दर्ज की गई। यह घाटा 14.3 अरब डॉलर रहा जो कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 2.4% के बराबर है। यह 1 जुलाई से लागू होने वाले गुडस एंड सर्विस टैक्‍स से पहले सोने के आयात में रिकॉर्ड वृद्धि होने के कारण दर्ज की गई।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में पिछले वित्त की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) की तुलना में चालू खाता घाटे में 3.4 अरब डॉलर की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें: देश का निर्यात अगस्त में 10.29 फीसदी बढ़ा

आरबीआई ने कहा, 'देश के चालू खाते का घाटा वित्त वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में 14.3 अरब डॉलर रहा, जो जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) का 2.4 फीसदी है, जबकि वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही में यह 0.4 अरब डॉलर था, जो जीडीपी का 0.1 फीसदी था। वहीं, वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही में यह 3.4 अरब डॉलर था, जो जीडीपी का 0.6 फीसदी है।'

बयान में कहा गया कि चालू खाते के घाटे में साल-दर-साल आधार पर बढ़ोतरी का मुख्य कारण बढ़ता व्यापार घाटा है, जो 41.2 अरब डॉलर है। देश में निर्यात की तुलना में लोग अधिक आयात कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: भारत का विदेशी कर्ज 2.7 फीसदी घटकर 471.9 अरब डॉलर

RELATED TAG: Current Account Deficit, Gold Imports,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो