गीतांजलि जेम्स के कारण 8,000 करोड़ रुपये बढ़ सकता है बैंको का NPA, 8.5 लाख करोड़ रुपये है बैंकों का NPA

  |   Updated On : April 15, 2018 09:44 PM
बैंकों के एनपीए में हो सकता है 8000 करोड़ रुपये का इजाफा (फाइल फोटो)

बैंकों के एनपीए में हो सकता है 8000 करोड़ रुपये का इजाफा (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  चालू वित्त वर्ष भी देश के बैकिंग सेक्टर के लिए बुरा रहने वाला है
  •  बैंकों के एनपीए में 8 हजार करोड़ रुपये का इजाफा होने वाला है

नई दिल्ली :  

चालू वित्त वर्ष भी देश के बैकिंग सेक्टर के लिए बुरा रहने वाला है।

घोटाला प्रभावित कंपनी गीतांजलि जेम्स के कारण 31 मार्च को समाप्त तिमाही में बैंकों के एनपीए (नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स) में 8 हजार करोड़ रुपये का इजाफा होने वाला है।

सूत्रों के मुताबिक कि बैंकों को पिछले वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के लिए सिर्फ गीतांजलि जेम्स को लेकर 8 हजार करोड़ रुपये की प्रॉविजनिंग करनी होगी।

पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही के दौरान एनपीए बनने वाले बड़े कर्ज खातों में गीतांजलि भी शामिल है।

दिसंबर तिमाही तक बैंकों का कुल एनपीए 8,40,958 करोड़ रुपये था, जिसमें सर्वाधिक हिस्सेदारी कॉरपोरेट कर्ज की थी।

गौरतलब है कि मेहुल चौकसी और उसका भांजा नीरव मोदी देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले के आरोपी हैं। पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को करीब 13 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाने के बाद दोनों देश छोड़कर फरार हो चुके हैं।

मोदी के हॉन्ग-कॉन्ग में होने की सूचना है और विदेश मंत्रालय ने उसे गिरफ्तार कर प्रत्यर्पित किए जाने की मांग की है।

और पढ़ें: महंगाई में गिरावट से राहत, औद्योगिक उत्पादन में कमजोरी ने बढ़ाई चिंता

RELATED TAG: Banks Npa, Gitanjali Gems, Indian Banks,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो