Breaking
  • गिरती अर्थव्यवस्था पर बोले अरुण जेटली, मोदी सरकार जल्द ही उठाएगी क़दम -Read More »
  • मुंबई में भारी बारिश के कारण 6 इंटरसिटी ट्रेनें हुईं रद्द: सेंट्रल रेलवे
  • हिज़बुल मुज़ाहिदीन आतंकी आदिल अहमद भट्ट बिजबेहारा रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार
  • रोहिंग्या मुद्दे पर बोली सू ची, हिंदु-मुस्लिम के नाम पर नहीं होगा भेदभाव, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु विधानसभा में फ्लोर टेस्ट पर लगाई रोक, पढ़ें पूरी खबर -Read More »
  • BCCI ने भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का नाम पद्म भूषण के लिए नॉमिनेट किया
  • नाभा जेल ब्रेक: IG पर आरोपी को 45 लाख रु. घूस लेकर छोड़ने का आरोप, पढ़ें पूरी खब -Read More »
  • पंजाब: बीएसएफ ने 2 पाकिस्तानी घुसपैठियों को किया ढेर, एके-47 जब्त -Read More »
  • रायन मर्डर केस: हाईकोर्ट का पिंटो परिवार की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार -Read More »

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने से यात्रियों का बिगड़ा बजट, बसों की ओर कर रहे रुख

By   |  Updated On : May 18, 2017 07:16 PM
दिल्ली मेट्रो

दिल्ली मेट्रो

नई दिल्ली:  

दिल्ली मेट्रो में किराया बढ़ने के बाद अब रोजमर्रा में ट्रेवल करने वाले यात्री मेट्रो से हटकर बसों की ओर रुख कर रहे हैं। बता दें कि खस्ता माली हालत का हवाला देते हुए दिल्ली मेट्रो ने कुछ दिनों पहले किराए में बढ़ोत्तरी की है। कुछ जगहों में इस किराए में लगभग दोगुनी बढ़ोत्तरी हुई है।

किराए की मार से मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों का बजट डगमगाने लगा है जिसकी वजह से लोग मेट्रो का सफर छोड़ बसों को प्राथमिकता दे रहे हैं।

नोएडा की एक कंपनी में काम करने वाले साकेश रतूरी रोजाना मेट्रो के जरिए पालम से नोएडा तक का सफर तय करते हैं। किराया बढ़ने के बाद उनका बजट इतना डगमगा गया कि उन्होंने मेट्रो छोड़ बस से ऑफिस पहुंचना शुरू कर दिया है।

और पढ़ें: कुलभूषण जाधव पर इंटरनेशनल कोर्ट के फैसले के बाद विदेश मंत्रालय ने कहा- बचाने की पूरी कोशिश करेंगे

डीएमआरसी के आधिकारिक बयान के मुताबिक, 'किराए बढ़ाने पर लंबे समय से विचार किया जा रहा था। यदि अब किराया नहीं बढ़ाते तो काफी घाटा सहना पड़ता। बिजली और मरम्मत कार्यो में काफी खर्च हो रहा है। किराए में बढ़ोतरी ऑपरेशनल लागत को देखते हुए की गई है, जो कमाई से कहीं अधिक है।'

एक नजर में देखें तो डीएमआरसी की कुल आय वर्ष 2013-2014 की तुलना में 2014-2015 के बीच 11.7 फीसदी बढ़ी है, जबकि 2014-2015 से 2015-2016 के दौरान आय 21.6 फीसदी बढ़ी है। मतलब, आय में लगभग दोगुना इजाफा हुआ है। ऐसे में घाटे वाला तर्क कहां ठहरता है?

और पढ़ें: विशाखापट्टनम देश का सबसे स्वच्छ स्टेशन, बिहार में दो स्टेशन सबसे गंदे

इसके जवाब में डीएमआरसी के प्रवक्ता अनुज दयाल ने कहा, 'मेट्रो की कई परियोजनाएं हैं, जिनके लिए तत्काल फंड की जरूरत है। मेट्रो की संचालन लागत कमाई की तुलना में बहुत ज्यादा है। इसलिए किराया बढ़ाना जरूरी था, वरना मेट्रो को काफी घाटा उठाना पड़ सकता था।'

RELATED TAG: Metro, Metro Fares Hikes, Fares Hikes, Commuters, Commuters Giving Preference To Bus, Metro,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो