फरीदाबाद: नहीं मिली एंबुलेंस, पोती के शव को कंधे पर ले जाने के लिए मजबूर हुआ शख्स

By   |  Updated On : July 15, 2017 09:00 AM
बीके हॉस्पिटल (प्रतीीकात्मक)

बीके हॉस्पिटल (प्रतीीकात्मक)

नई दिल्ली:  

हरियाणा के फरीदाबाद में एक दादा अपनी पोती के शव को कंधे पर ले जाने के लिए उस वक्त मजबूर हो गया जब लापरवाह प्रशासन ने उसके लिए एंबुलेंस भी उपलब्ध नहीं कराई गई।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक लक्ष्मी नाम के एक व्यक्ति ने अपनी 9 साल की पोती को फरीदाबाद के बादशाह खान हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। बच्ची को दो दिन से तेज बुखार की शिकायत थी। हॉस्पिटल में ट्रीटमेंट के दौरान उसकी मौत हो गई।

जब बच्ची की मौत हुई तो डॉक्टर्स ने उसके दादा से शव ले जाने को कहा। दादा ने एंबुलेंस के लिए कहा लेकिन उसे एंबुलेंस नहीं दी गई। इस बात पर लक्ष्मी ने अपनी पोती का शव कंधे पर उठाया और ले जाने लगा।

और पढ़ें: नाबालिग लड़की के साथ दो युवकों ने किया गैंगरेप

व्यक्ति के पास इतने पैसे नहीं थे कि वह प्राइवेट वाहन कर सके। मौके पर मौजूद मीडियाकर्मियों के दखल के बाद एक प्राइवेट एंबुलेंस उपलब्ध कराई गई। जानकारी के मुताबिक व्यक्ति पहले अपनी पोती को लेकर एक प्राइवेट हॉस्पिटल में गया था।

व्यक्ति के पास पैसे नहीं थे इसलिए प्राइवेट हॉस्पिटल में बच्ची को ट्रीटमेंट नहीं दिया गया। वहीं बच्ची के परिजनों का आरोप है कि बच्ची को ठीक तरह से ट्रीटमेंट नहीं दिया गया जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई।

और पढ़ें: लक्ष्मी नगर में महिला की हत्या, गर्दन और सिर पर मिले धारदार हथियार से चोट के निशान

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो