Breaking
  • दिल्ली: नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट 2 दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे
  • छत्तीसगढ़: पुसवाड़ा में IED ब्लास्ट, 206 CoBRA बटालियन का एक जवान घायल
  • इटली में ट्रेन हुई डीरेल, 2 लोगों की मौत, 1 घायल: AFP के हवाले से
  • उत्तरी बगदाद पार्क में आत्मघाती हमला, 7 लोगों की मौत: AP की रिपोर्ट
  • तमिलनाडु हिंसा: हिंसक प्रदर्शन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हुई, 70 घायल
  • तमिलनाडु: तूतीकोरिन में प्रशासन के अगले आदेश तक इंटरनेट सेवा सस्पेंड

मध्य प्रदेश बलात्कार के मामलों में शीर्ष पर, जानिए कौन से राज्य हैं टॉप-5 में

  |   Updated On : December 01, 2017 12:03 AM
सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

ख़ास बातें
  •  मध्य प्रदेश में पिछले साल बलात्कार के 4,882 मामले दर्ज किए गए
  •  बलात्कार के मामले में अव्वल पहले चारों राज्यों में बीजेपी की सरकार है

नई दिल्ली:  

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) रिपोर्ट के अनुसार देश में बलात्कार के मामलों में 2015 की तुलना 2016 में 12.4% की बढ़ोतरी हुई है। साल 2016 में मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं।

गुरुवार को जारी किए गए रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश में पिछले साल बलात्कार के 4,882 मामले दर्ज किए गए, जो कि देश में कुल दर्ज बलात्कार के मामलों का 12.5% है।

वहीं उत्तर प्रदेश 4,816 (12.4%) में दूसरे नंबर पर है, जहां सबसे ज्यादा बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं। उसके बाद महाराष्ट्र 4,189 (10.7%) तीसरे नंबर पर है।

बलात्कार के मामले में चौथे नंबर पर राजस्थान है, जहां 3,656 मामले दर्ज हुए, वहीं पांचवें नंबर पर उड़ीसा है, जहां 1,983 मामले दर्ज किए गए हैं।

बता दें कि बलात्कार के मामले में अव्वल पहले चार राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकारें हैं, जो महिला सुरक्षा को लेकर बड़ी-बड़ी दावे करती है।

हालांकि बलात्कार के बढ़ते मामलों को देखते हुए हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार ने एक कड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। सरकार ने 12 साल या उससे कम उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा देने के प्रस्ताव पारित किया था।

और पढ़ें: रेप कैपिटल: सिर्फ दिल्ली में दर्ज हुए बलात्कार के 40% मामले

बीते रविवार को रेप के दोषियों की सजा और जुर्माना बढ़ाने के लिए दण्ड संहिता की धारा में संशोधन को भी मंजूरी दी है। इस मंजूरी के साथ ही कैबिनेट ने गैंगरेप के दोषियों को भी मृत्यु दण्ड का प्रस्ताव पारित किया था।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया, जहां बलात्कार के मामले में इस तरह के कानून के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।

राजधानी भोपाल में हुई गैंग रेप की घटना के बाद मध्य प्रदेश सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े हुए थे।

और पढ़ें: देश में दलितों के खिलाफ बढ़े अत्याचार के मामले, महिलाओं के खिलाफ अपराध में टॉप पर यूपी: NCRB

RELATED TAG: Madhya Pradesh, Ncrb, Ncrb Data 2016, Uttar Pradesh, Rape Cases, National Crime Records Bureau, Rape, Ncrb Data,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो