महिला विश्व कप : पूनम का शतक हुआ नाकाम, भारत को मिली 8 विकेट से हार

By   |  Updated On : July 13, 2017 12:17 AM
पूनम राउत ( फाइल फोटो)

पूनम राउत ( फाइल फोटो)

ब्रिस्टल:  

आस्ट्रेलिया ने आईसीसी महिला विश्व कप में बुधवार को भारतीय टीम को आठ विकेट से हरा दिया है। पूनम राउत (106) के शतक और कप्तान मिताली राज (69) के अर्धशतक के दम पर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में सात विकेट खोकर 226 रन बनाने वाली भारतीय टीम आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के सामने यह लक्ष्य नहीं बचा पाई।

आस्ट्रेलिया ने कप्तान मेग लैनिंग (नाबाद 76) और एलिस पैरी (नाबाद 60) की आगुआई में 45.1 ओवरों में दो विकेट खोकर यह लक्ष्य हासिल कर लिया।

इस हार के बाद भारत की सेमीफाइनल की राह मुश्किल हो गई है। भारत को अपना अगला और अंतिम लीग मैच 15 जुलाई को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलना है।

मौजूदा विजेता आस्ट्रेलिया को अच्छी शुरुआत मिली। निकोल बोल्टन (36) और बेथ मूनी (45) ने पहले विकेट के लिए 62 रन जोड़े। बोल्टन को लेग स्पिनर पूनम यादव ने आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई।

यहां से लैनिंग ने विकेट पर पांव जमा लिए, तो अंत तक आउट नहीं हुईं। मूनी ने कप्तान के साथ मिलकर टीम को 100 का आंकड़ा पार कराया। अर्धशतक की ओर बढ़ रहीं मूनी रन लेने की जल्दबाजी में रन आउट हो पवेलियन लौटीं। वह 103 के कुल स्कोर पर आउट हुईं।

और पढ़ेंः हेड कोच तो बन गए रवि शास्त्री अब आगे है ये 'अग्नि परीक्षा'

यहां से लैनिंग को एलिस पैरी का साथ मिला और दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 124 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिलाई। 88 गेंदों की पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाने वाली लैनिंग को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। पैरी ने 67 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके लगाए।

इससे पहले, सलामी बल्लेबाज पूनम और मिताली के बीच दूसरे विकेट के लिए हुई बेहतरीन साझेदारी के बावजूद भारतीय टीम आस्ट्रेलिया को बड़ा लक्ष्य नहीं दे सकी।

मिताली और पूनम ने जरूर विकेट नहीं गिरने दिए, लेकिन रनगति को यह दोनों बल्लेबाज तेज नहीं कर सकी। आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने इन्हें बड़े शॉट लगाने से रोके रखा।

भारत को अच्छी शुरुआत नहीं मिली और बाएं हाथ की बल्लेबाज स्मृति मंधाना (3) एकबार फिर बल्ले से कमाल नहीं दिखा पाईं। वह नौ के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट गईं।

यहां से मिताली और पूनम ने मोर्चा संभाला और आस्ट्रेलिया को विकेट के लिए तरसा दिया। दोनों ने धीरे-धीरे पारी को आगे बढ़ाया और 37.1 ओवरों में 4.22 की औसत से 157 रनों की शतकीय साझेदारी की।

और पढ़ेंः 'शेप ऑफ यू' सिंगर एड शीरन बिखेरेंगे आवाज का जादू , 48 मिनट में बिके सारे टिकट

इस साझेदारी के दौरान मिताली ने अपने नाम एक नया रिकार्ड दर्ज किया। वह वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला बल्लेबाज बन गईं। इस मामले में उन्होंने इंग्लैंड की बल्लेबाज चार्लोट एडवर्ड्स को पछाड़ा, जिनके नाम 5,992 रन दर्ज थे।

मिताली ने 29वें ओवर की चौथी गेंद पर एक रन लेते ही यह ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। इस मैच से पहले वह इस मुकाम से 34 रन दूर थीं।

यह मिताली का 183वां मैच और 164वीं पारी है। इस मैच में उन्होंने 114 गेंदों में चार चौके और एक छक्के की मदद से 69 रनों की पारी खेली। उनके नाम अभी तक 51.83 की औसत से 6,061 रन दर्ज हैं। वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबादा 114 है। उनके हिस्से पांच शतक और 49 अर्धशतक हैं।

उनकी पारी का अंत 41वें ओवर की तीसरी गेंद पर 166 के कुल स्कोर पर एशले गार्डनर ने किया। इसके बाद पूनम ने अपना शतक पूरा किया। लेकिन सैंकड़ा जमाने के बाद वह ज्यादा देर विकेट पर रुक नहीं पाईं। अंत के ओवरों में तेजी से रन बानने के प्रयास में वह 47वें ओवर में 203 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट गईं। उन्होंने अपनी शतकीय पारी में 136 गेंदें खेली जिसमें 11 चौके लगाए।

इन दोनों के जाने के बाद भारतीय बल्लेबाज लगातार विकेट खोती रहीं। यहां से भारत ने 23 रन जोड़े, लेकिन अपने चार विकेट गंवा दिए। अंत के पांच ओवरों में भारतीय टीम ने पांच विकेट खोकर 33 रन बनाए। आस्ट्रेलिया की तरफ से मेगन शुट और एलिस पैरी ने दो-दो विकेट लिए। गार्डनर और क्रिस्टन बीम्स को एक-एक सफलता मिली। भारत की एक बल्लेबाज रन आउट हुईं।

और पढ़ेंः AC के बिना नहीं रह सकते तो हो जाइये सावधान! हो सकती है ये सारी बीमारियां

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो