Breaking
  • तमिलनाडु में 27 मई सुबह 8 बजे तक धारा 144 लागू
  • अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप नें किम जोंग उन को लिखी चिट्ठी, 12 जून को होने वाले समिट को किया रद्द
  • प्रधानमंत्री मोदी 29 मई से 2 जून के बीच इंडोनेशिया और सिंगापुर दौरे पर जाएंगे: MEA
  • दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीदरलैंड के पीएम मार्क रूट से की मुलाकात
  • सीरिया में मिलिट्री पॉजिशन पर अमेरिका ने किया हमला, 12 लोगों की मौत: AFP
  • व्यास नदी प्रदूषण: NGT ने सेंट्रल, पंजाब और राजस्थान पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड को भेजा नोटिस
  • तमिलनाडु हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे DMK के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन पुलिस हिरासत में
  • केरल: कोझिकोड में निपाह वायरस से एक और मौत, मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हुई
  • कर्नाटक: बीजेपी विधायक सुरेश कुमार ने विधान सभा के स्पीकर के लिए नॉमिनेशन भरा
  • द्विपक्षीय महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव नतीजे: बीजेपी ने 2 और एनसीपी ने एक सीट जीती
  • छत्तीसगढ़: पुसवाड़ा में IED ब्लास्ट, एक CRPF जवान शहीद, 206 CoBRA बटालियन का जवान घायल
  • इटली में ट्रेन हुई डीरेल, 2 लोगों की मौत, 1 घायल: AFP के हवाले से
  • उत्तरी बगदाद पार्क में आत्मघाती हमला, 7 लोगों की मौत: AP की रिपोर्ट
  • तमिलनाडु हिंसा: हिंसक प्रदर्शन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हुई, 70 घायल
  • तमिलनाडु: तूतीकोरिन में प्रशासन के अगले आदेश तक इंटरनेट सेवा सस्पेंड

स्मॉग को लेकर बॉलिंग कोच भरत अरुण ने दिया बयान, कहा- श्रीलंका का ध्यान शायद प्रदूषण पर था, मैच पर नहीं

  |   Updated On : December 04, 2017 02:32 AM
 बॉलिंग कोच भरत अरुण

बॉलिंग कोच भरत अरुण

नई दिल्ली:  

भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को श्रीलंकाई खिलाड़ियों द्वारा प्रदूषण के कारण तीन बार खेल रोके जाने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मेहमान टीम के खिलाड़ियों का ध्यान शायद प्रदूषण पर था, मैच पर नहीं।

दिन के दूसरे सत्र में श्रीलंका के तकरीबन पांच से ज्यादा खिलाड़ी मैदान पर प्रदूषण के कारण मास्क लगाकर उतरे थे। इस पर भरत ने कहा कि विराट ने तकरीबन दो दिन तक बल्लेबाजी की लेकिन उन्होंने मास्क नहीं पहना।

दिन का खेल खत्म होने के बाद संवाददाता सम्मेलन में भरत से जब पूछा गया कि क्या श्रीलंकाई खिलाड़ियों का तीन बार मैच रोकने का मकसद भारतीय खिलाड़ियों की लय को तोड़ना था?

इस पर भरत ने कहा, वह शायद प्रदूषण पर ध्यान केंद्रित करना चाहते थे। उनका ध्यान शायद कहीं और था। हो सकता है कि इससे हमारी लय टूटी हो। उस समय जब मैच रूका गया तब हम मैच जारी रखना चाहते थे।

दिन के दूसरे सत्र में भारत जब पांच विकेट खोकर 509 रनों पर था तभी श्रीलंकाई गेंदबाज लाहिरू गमागे को परेशानी हुई और खेला रोका गया। इसी बीच श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने खराब वातावरण की शिकायत मैदानी अंपायरों से की। जिसके कारण तकरीबन 15 मिनट का खेल रुका।

मैच दोबारा शुरू हुआ और रविंचद्रन अश्विन (4) का विकेट गिरा। इसी बीच कप्तान कोहली भी अपने टेस्ट करियर के सर्वश्रेष्ठ स्कोर 243 रनों पर लक्षण संदकाना की गेंद पगबाधा करार दे दिए गए।

कोहली के जाने के बाद एक बार फिर खेल रुका 127वें ओवर में श्रीलंका के टीम मैनेजर असंका गुरुिसंहा मैदानी अंपायरों से कुछ शिकायत करने लगे। उनके जाने के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मैदान पर कदम रखा और मैदानी अंपायरों से बात की।

और पढ़ेंः HWL फाइनल्स: कड़े मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत को 3-2 से दी मात

पांच मिनट तक खेल रुकने के बाद मैच एक बार फिर शुरू हुआ लेकिन पांच गेंद बाद श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल ने 10 खिलाड़ी होने के कारण मैच रोक दिया और इसी बीच श्रीलंका टीम के कोच निक पोथास मैदान पर आकर अंपायरों से बात करने लगे। इसी बीच भारतीय ड्रेसिंग रूम से कोहली ने परेशान होकर पारी घोषित कर दी।

भरत ने कहा कि मैदान पर इस तरह खिलाड़ियों को विरोध करना सही नहीं रहता क्योंकि वहां अंपायर और रेफरी मैच की हर स्थिति पर ध्यान देते हैं।

उन्होंने कहा. मैदान पर जो अंपायर होते हैं और मैच रेफरी होता है उसके लिए यह मुद्दा होता है। खिलाड़ियों का काम जाकर विरोध प्रदर्शन करना नहीं है। जब खेल बिना किसी कारण के रोका गया, तब हम चाहते थे कि मैच जारी रहे। क्योंकि हमारा ध्यान इस टेस्ट मैच पर है और हम इसे जीतना चाहते हैं।

मैदान पर शास्त्री की अंपायरों से क्या बात हुई इस पर गेंदबाजी कोच ने कहा, रवि ने साफ तौर पर कहा था कि मैच को जारी रखें रोकें नहीं।

मेहमान टीम के खिलाड़ियों के मास्क पहनने पर भरत ने कहा, विराट ने दो दिन तक बल्लेबाजी की उन्हें मास्क की जरूरत नहीं पड़ी। हमारा ध्यान उस पर था, जो हम करना चाहते थे। हम एक टीम के तौर पर क्या हासिल करना चाहते हैं इस पर पूरी तरह से हमारा ध्यान था। परिस्थितयां दोंनों टीमों के लिए एक जैसी थीं।

श्रीलंकाई टीम के रवैये से परेशान होकर भारत ने अपनी पारी घोषित कर दी थी। इस पर भरत ने कहा एक तरीके से नहीं क्योंकि हम 550 के स्कोर पर ध्यान दे रहे थे, और इसके आसपास का स्कोर हमने बना लिया था तो हमने सोचा की हमें पारी घोषित कर देनी चाहिए।

और पढ़ेंः दिल्ली टेस्ट: विराट और प्रदूषण से परेशान मेहमान बैकफुट पर, श्रीलंका का स्कोर 131/4

RELATED TAG: India Vs Sri Lanka, Third Test, Ferozshah Kotla, Second Day, Coach Bharat Arun, Pollution, Pollution In Match, News In Hindi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो