Campaign

अन्य खबरें

70 साल बाद भी लोगों को नहीं है अपने अधिकारों की जानकारी, ईमानदार मं​थन ज़रूरी

अफसोस की ही बात है कि आजादी के 70 साल बाद भी आबादी के बड़े हिस्से को अपने अधिकारों की जानकारी नहीं।

जानें अपने अधिकार: 10 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है मानवाधिकार दिवस

10 दिसंबर यानि रविवार को पूरे विश्व में मानवाधिकार दिवस मनाया जा रहा है। इसी दिन सन 1948 को संयुक्त राष्ट्र ने मानव अधिकारों के सार्वभौम...

जानें अपने अधिकार: टीवी एक्ट्रेस कस्तूरी बोलीं, गांव के लोगों तक पहुंचे अधिकारों के प्रति जागरूकता

10 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाया जा रहा है। इस विषय में जानकारी देते हुए टीवी एक्ट्रेस कस्तूरी बैनर्जी ने कहा कि...

जानें अपने अधिकार: TV एक्टर सुयश बोले- सभी को पता होना चाहिए उनके अधिकार

इस दौरान सुयश ने न्यूज नेशन की मानवाधिकार दिवस पर 'जानें अपने अधिकार' मुहिम को भी सराहा। उन्होंने कहा कि न्यूज नेशन का यह अच्छा प्रयास...

जानें अपने अधिकार: टीवी एक्ट्रेस सोनल वेंगुरलेकर बोली, सबको मिले अपना हक़

खास कवरेज 'जानें अपने अधिकार' की टीवी एक्ट्रेस सोनल वेंगुरलेकर ने तारीफ करते हुए कहा कि देश के हर एक नागरिक को उसका हक मिलना चाहिए।

जानें अपने अधिकार: एक्ट्रेस ऐश्वर्या खरे बोलीं, मानवाधिकार के प्रति जागरुकता जरूरी

मानवाधिकार दिवस पर न्यूज नेशन की मुहीम 'जानें अपने अधिकार' की सराहना करते हुए कहा कि इससे लोगों में मानवाधिकार के प्रति जागरुकता...

जानें अपने अधिकार: टीवी कलाकार वरुण तुर्की ने कहा, मानवाधिकार का हो संरक्षण

तुर्की ने कहा कि एक इंसान जब जन्म लेता है तो उसी के साथ उसके अधिकार भी मिल जाते हैं।

जानें अपने अधिकार: कैदियों को है फ्री कानूनी सहायता और मैलिक अभिव्यक्ति का हक़

संविधान के अनुच्छेद-22 के तहत अदालत की ड्यूटी है कि जब भी कोई आरोपी अदालत में पेश हो तो कोर्ट उससे पूछे कि क्या उसे वकील चाहिए?

जाने अपना अधिकार: जीने के लिए ज़रूरी भोजन पाना सब का हक़

भोजन का अधिकार समाज के हर एक व्यक्ति को भूख से मुक्ति दिलाता है और साथ ही उसे सुरक्षित और पोषक भोजन उपलब्ध कराता है।

जानें अपने अधिकार: महिलाओं के मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न के खिलाफ हैं ये कानून

कई बार कार्यालय, बाहर और घरों में लोगों को न सिर्फ सेक्सुअल हैरसमेंट ही नहीं बल्कि मेंटली हैरेसमेंट (मानसिक उत्पीड़न) का सामना करना...

जानें अपने अधिकार: भारत में किसे है बच्चों को गोद लेने का हक़, क्या कहता है क़ानून

बच्चे और गोद लेने वाले की उम्र में 21 साल का अंतर होना आवश्यक है। 15 साल से कम उम्र और अविवाहित व्यक्ति को ही गोद लिया जा सकता है।

जानें अपने अधिकार: न्यूनतम मज़दूरी और सप्ताह में एक दिन अवकाश हर कर्मचारी का हक़

इसके अलावा किसी भी कर्मचारी को 9 घंटे से ज़्यादा वक़्त तक काम नहीं करवाया जा सकता है और अगर करवाया जाता है तो उसके लिए कंपनी को...

जानें अपने अधिकार: हर व्यक्ति को स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराना सरकार की है ज़िम्मेदारी

भारतीय संविधान ने भी अनुच्छेद-21 के तहत जीने के अधिकार में 'स्वास्थ्य के अधिकार' को वर्णित किया है। ऐसे में एक व्यक्ति की स्वास्थ्य...

जानें अपने अधिकार: ट्रैफ़िक हवलदार नहीं निकाल सकता आपके गाड़ी की चाबी

किसी भी ट्रैफ़िक हवलदार के पास आपकी गाड़ी से चाबी निकालने का अधिकार नहीं है। इतना ही नहीं ट्रैफ़िक हवलदार आपकी गाड़ी को रोक कर आपसे...

जानें अपने अधिकार: मकान मालिक नहीं काट सकता है किराएदार के घर की बिजली और पानी

मकान मालिक बिना किराएदार की अनुमति के अंदर उसकी प्रॉपर्टी में प्रवेश नहीं कर सकता है। साथ ही किसी भी सूरत में किराएदार की बिजली और...

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो