Breaking
  • फोन टेप मामला: दिल्ली कोर्ट ने CBI को भेजा नोटिस, 22 जनवरी तक मांगा जवाब
  • Air India विनिवेश पर बोर्ड बैठक आज
  • आधार कार्ड योजना की वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर SC में सुनवाई शुरू
  • फिल्म पद्मावत की रिलीज पर रोक मामले में SC पहुंचे प्रोड्यूसर, सुनवाई को तैयार कोर्ट
  • LIVE: पीएम मोदी के साथ गुजरात पहुंचे इजरायली पीएम नेतन्याहू
  • तमिलनाडु: कमल हासन 21 फरवरी से करेंगे पूरे राज्य का दौरा, राजनीतिक पार्टी के नाम का भी करेंगे ऐलान -Read More »
  • NIA के इनपुट पर पुलिस ने कानपुर में मारा छापा, मिले करीब 100 करोड़ के पुराने नोट
  • जींद गैंगरेप-मर्डर केस: संदिग्ध आरोपी की कुरुक्षेत्र में लाश मिली
  • सुप्रीम कोर्ट में आधार की अनिवार्यता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर होगी सुनवाई
  • कम विजिबिलिटी के कारण दिल्ली आने वाली 21 ट्रेन लेट, 4 का बदला समय, 13 कैंसल

बिहार : नोटबंदी के एक साल पूरा होने विपक्ष ने मार्च निकाला, बीजेपी ने विपक्षी नेताओं के पुतले फूंके

  |  Updated On : November 08, 2017 08:12 PM
नोटबंदी के एक साल हुए पूरे (फाइल फोटो)

नोटबंदी के एक साल हुए पूरे (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  राजद के नेतृत्व में बिहार के विपक्षी दल ने नोटबंदी को जनविरोधी करार देते हुए पैदल मार्च निकाले
  •  बीजेपी भी नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर 'कालाधन विरोधी दिवस' मना रही है
  •  राजद और कांग्रेस सहित कई विपक्षी दल नोटबंदी लागू के एक साल पूरा होने पर 'काला दिवस' मना रहे हैं

पटना:  

केंद्र सरकार द्वारा नोटबंदी लागू किए जाने का एक साल पूरा होने पर बुधवार को यहां राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस सहित कई विपक्षी दल 'काला दिवस' मना रहे हैं।

इसके तहत विपक्षी दल के नेताओं ने पैदल मार्च निकाला। दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) इस दिन को 'कालाधन विरोध दिवस' के रूप में मनाते हुए विपक्षी नेताओं के पुतले फूंके।

राजद के नेतृत्व में बिहार के विपक्षी दल नोटबंदी को जनविरोधी करार देते हुए पैदल मार्च निकाले। पटना के ज़े पी़ गोलंबर के पास राजद, कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के नेता और कार्यकर्ता इकट्ठा हुए और वो यहां से जुलूस की शक्ल में कारगिल चौक होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय तक पहुंचे।

इस दौरान विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिसकर्मियों ने रोकना चाहा, लेकिन कार्यकर्ता आगे बढ़ते रहे। अंत में पटना जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर विपक्षी दलों ने अपना मार्च समाप्त किया।

और पढ़ें: नोटबंदी के एक साल हुए पूरे, बदलते नियमों के बीच पिसता रहा आम आदमी, मुश्किल से बीते वो दिन

पैदल मार्च में शामिल राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि नोटबंदी से गरीबों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि आज देश के युवा, किसान और व्यापारी वर्ग सड़क पर उतरकर इसका विरोध कर रहे हैं।

इधर, कांग्रेस के प्रभारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि नोटबंदी के बाद देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है। महंगाई बढ़ी है और लोग परेशान हैं।

इधर, बीजेपी भी नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर 'कालाधन विरोधी दिवस' मना रही है। बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने यहां कारगिल चौक पर विपक्षी नेताओं के पुतले फूंके।

बीजेपी विधायक नितिन नवीन ने कहा कि नोटबंदी का वही लोग विरोध कर रहे हैं, जिनका कालाधन बाहर आ रहा है और जिनके पास कालाधन है।

उन्होंने कहा कि आज आम लोग इस नोटबंदी के साथ हैं, जिसका परिणाम उत्तर प्रदेश चुनाव में भी देखने को मिला।

और पढ़ें: नोटबंदी का 1 साल: मोदी सरकार ने पेश किए उपलब्धियों के आंकड़ें

RELATED TAG: Demonetization, Bihar, Rjd, Bjp, Congress, Note Ban, Narendra Modi, Arun Jaitley,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो