पत्नी कुलसुम के निधन पर मरयम और नवाज़ शरीफ को मिली पैरोल

| Last Updated:

इस्लामाबाद:

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम नवाज और दामाद मोहम्मद सफदर को कुलसुम नवाज के अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए तीन दिनों की पैरोल पर जेल से रिहा किया गया है। नवाज शरीफ की पत्नी कुलसुम नवाज का लंदन में मंगलवार को निधन हो गया। उनका कई महीनों से कैंसर का इलाज चल रहा था। नवाज शरीफ, उनकी बेटी मरियम व दामाद सफदर भ्रष्टाचार के मामले में रावलपिंडी में जेल की सजा काट रहे हैं। इन्हें मंगलवार को कुलसुम नवाज के निधन के कुछ घंटे बाद रिहा किया गया।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री की पत्नी नमाज-ए-जनाजा लंदन की रेजेंट पार्क मस्जिद में गुरुवार को होगी। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को विमान से लाहौर लाया जाएगा। शरीफ के परिवार ने कहा कि कुलसुम नवाज को लाहौर में उनके निवास पर शुक्रवार को दफनाया जाएगा। शरीफ, मरियम नवाज व उनके पति को पुलिस की निगरानी में जेल से नूर खान एयरबेस ले जाया गया और उन्होंने बुधवार को लाहौर के लिए उड़ान भरी।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष व नवाज के भाई शहबाज शरीफ इन तीनों के साथ विमान में थे। बाद में वह कुलसुम नवाज के पार्थिव शरीर को लाने के लिए लंदन रवाना हो गए। पंजाब के गृह विभाग के प्रवक्ता के अनुसार, यह फैसला किया गया कि शरीफ, मरियम व सफदर की पैरोल को तीन दिन के लिए बढ़ाया जाए।

प्रवक्ता ने कहा, 'बेगम कुलसुम नवाज के अंतिम संस्कार में देरी की स्थिति में पैरोल को आगे बढ़ाया जाएगा।' डॉन दैनिक के अनुसार, लंदन में कुलसुम नवाज के दोनों बेटे उनके पार्थिव शरीर के साथ लाहौर नहीं जाएंगे। हालांकि, कुलसुम की बेटी असमा और पोते जिक्रिया शरीफ पार्थिव शरीर के साथ पाकिस्तान जाएंगे। शरीफ के आवास पर बड़ी संख्या में संबंधी, पार्टी नेता, कार्यकर्ता, राजनेता कुलसुम नवाज के निधन पर शोक जताने के लिए जमा हैं।

First Published: