UP board exam 2019 date announced: 7 फरवरी से शुरू होंगी यूपी बोर्ड 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं

| Last Updated:

नई दिल्ली:

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं (UP board exam 2019 date announced) 2019 में 7 फरवरी को शुरू कर 16 कार्यदिवसों में खत्म की जाएंगी। यूपी (UP Board exams date) के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान यह फैसला लिया है। परीक्षाओं की सारिणी तैयार करते समय त्योहार और कुम्भ में महत्वपूर्ण स्नान की तारिखों को धयान में रखा जाएगा।

बोर्ड परीक्षा 2019 (Uttar Pradesh board Exams dates) की तैयारियों के संबंध में उप मुख्यमंत्री ने विडियो कॉन्फेंसिंग के माध्यम से शिक्षा विभाग के साथ सोमवार को बैठक की। दिनेश शर्मा ने इस साल की परीक्षा के सफल आयोजन और चीटिंग के केस न आने पर बोर्ड को बधाई भी दी। बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्रों का स्थलीय निरीक्षण परिषद की वेबसाइट पर अनिवार्य रूप से अपलोड कर दिया जाए। जिला स्कूल निरीक्षकों के स्तर पर परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण 15 सितंबर 2018 तक पूरा कर लें। साथ ही क्षेत्रीय कार्यालयों के अपर सचिव और मण्डलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक एक नियंत्रण कक्ष भी बनवाएं और इस कार्रवाई को अंतिम रूप दें।

डॉ. दिनेश शर्मा ने संवेदनशील परीक्षा केंद्रों को पहचानने की कार्रवाई को ध्यान से करने के निर्देश दिये हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर परीक्षा केंद्रों में किसी तरह कि अनियमितताएं पाई जाती हैं तो डीआईओएस को दोषी माना जाएगा।

बोर्ड परिक्षाओं के सफल आयोजन को सुनिश्चित करने के लिए कुछ अन्य कदम भी उठाए गए हैं। जैसे सीसीटीवी कैमरा में वॉयस रिकार्डिंग की व्यवस्था भी की जाएगी। वहीं परिक्षार्थियों का नामांकन आधार से लिंक कराया जाएगा ताकि फर्जी परीक्षार्थियों को बैठने से रोका जा सकें। उत्तर पुस्तिकाओं में डी-कोडिंग करवाई जाएगी। इसके साथ ही उत्तर पुस्तिकाओं में मूल्यांकन के मानदेय का भुगतान शिक्षको तुरंत कर दिया जाए।

और पढ़ें- CBSE दिव्यांग छात्रों को एग्जाम में देगी छूट, तैयार किया जा रहा है ड्राफ्ट रिपोर्ट

आगे उन्होंने कुछ अतिरिक्त कदम उठाने के निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा केंद्रों में शिक्षक दूसरे स्कूलों से नियुक्त किए जाए। बैठक के दौरान कुछ बातों पर विशेष जोर दिया गया। इसमें शामिल है जिला स्तर पर कंट्रोलरूम में परीक्षा केंद्रों की सारी जानकारी मौजूद रहेगी। सभी केंद्रों में जीपीएस लिंक लागाए जाएंगें। केन्द्र निर्धारण में शिकायत दर्ज करने के लिए अलग से जारी होगा नया ईमेल आईडी। परीक्षा केन्द्र के 200 मीटर के अंदर किसी तरह की गलत गतिविधि के लिए प्रबन्धक को जिम्मेदार माना जाएगा।

First Published: