'शादी में जरूर आना' मूवी रिव्यू: प्यार में टूटे राजकुमार राव के इंतकाम की कहानी

| Last Updated:

नई दिल्ली:

इस साल को बॉलीवुड अभिनेता राजकुमार राव का साल कहें तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। दरअसल, साल 2017 में राजकुमार राव की चार फिल्‍में 'ट्रैप्‍ड', 'बहन होगी तेरी', 'बरेली की बर्फी' और 'न्‍यूटन' रिलीज हुई हैं। 'ट्रैप्‍ड' और 'बहन होगी तेरी' को छोड़ दें तो उनकी अन्य दोनों फिल्में बॉक्‍स ऑफिस पर कमाल दिखाने में कामयाब रही हैं। 'बरेली की बर्फी' के प्रीतम विद्रोही और हाल ही में रिलीज हुई फिल्‍म 'न्‍यूटन' के नूतन कुमार को लोगों ने खूब पसंद किया।

राजकुमार राव और नवोदित अभिनेत्री कृति खरबंदा की फिल्म 'शादी में जरूर आना' इस शुक्रवार (10 नवंबर) को रिलीज होने वाली है। फिल्म में एक बार फिर राजकुमार दमदार एक्टिंग करते हुए नजर आए हैं, जो दर्शकों को काफी रास आने वाली है। रत्ना सिन्हा द्वारा निर्देशित फिल्म 'शादी में जरूर आना' एक शादी के इर्द गिर्द घूमती कहानी है। वहीं इसका गाना 'ठुकरा के दिल मेरा इंतेकाम देखेगी' भी बेहद शानदार तरीके से फिल्माया गया है। आइए आपको बताते हैं ​क्या है फिल्म की कहानी और इसे देखने के लिए ​सिनेमाघरों में क्यों जाए?

कहानी

फिल्म की कहानी शुरू होती है सत्येंद्र मिश्रा उर्फ सत्तु (राजकुमार राव) के घर से, जिसके मामा उसके माता पिता को शादी के लिए एक लड़की की तस्वीर दिखाते हैं। घरवालों को लड़की पसंद आ जाती है। आरती शुक्ला (कृति खरबंदा) की मां उसे लड़के से मिलने के लिए कहती है, लेकिन वह शुरुआत में शादी के लिए नहीं मानती, लेकिन पिता की जिद के कारण वह इस शादी के लिए हामी भर देती है।

और पढ़ें: 'पद्मावती': विवाद बढ़ता देख संजय लीला भंसाली ने जारी किया वीडियो, अफवाहों पर लगाया विराम

सत्येंद्र और आरती को अरेंज मैरिज के लिए मिलवाया जाता है। मिलने के बाद दोनों एक-दूसरे को देखते ही दिल दे बैठते हैं। इनके घरवाले इनकी शादी तय करते हैं। लेकिन जैसे ही सत्तु शादी के लिए आरती के घर पर पहुंचता है, उसकी दुल्‍हन कृति वहां से गायब हो जाती है। अपने साथ शादी के दिन हुए इस धोखे से राजकुमार बुरी तरह टूट जाते हैं और मंडप छोड़कर भागने वाली कृति से बदला लेने का फैसला करता हैं।

फिल्म में राजकुमार राव और कृति काफी क्‍यूट नजर आ रहे हैं। दोनों की एक्टिंग भी काफी शानदार लग रही है, लेकिन फिल्म के कई सीन्स ऐसे हैं, जिन्हें शायद ही मध्यम वर्गीय परिवार अपना सके। सिविल सेवा की पृष्ठभूमि पर आधारित इस फिल्म के अधिकतम सीन्स उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर और इलाहाबाद पर फिल्माये गये हैं, जिसमें कुछ खास लोकेशन ही नजर आ रहे हैं, इसके अलावा और भी सीन्स इसमें दिखाए जा सकते थे।

हालांकि फिल्म के शुरुआत में राजकुमार 'बरेली की बर्फी' के बाद एक बार फिर से शादी के लिए बैचेन और उतावले दुल्‍हे बने नजर आए हैं। लेकिन उनकी पिछली कुछ फिल्‍मों की तरह ही इस फिल्‍म में भी उनका शादी करने का सपना अधूरा रह जाता है।

अगर आप राजकुमार राव के फैन हैं, तो यह फिल्म आपको जरूर पसंद आएगी। क्योंकि उनकी पिछली फिल्मों की तरह इस फिल्म में भी आपको उनकी शानदार एक्टिंग के साथ एक नया अवतार नजर आएगा।

और पढ़ें: नोएडा ऑनलाइन घोटाला: ED ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी को किया तलब, होगी पूछताछ

First Published: