पैडमैन मूवी रिव्यू: अक्षय कुमार की फिल्म देखने से पहले पढ़ें कहानी

| Last Updated:

मुंबई:

'चीनी कम', 'शमिताभ' और 'की एंड का' जैसी फिल्में डायरेक्ट करने वाले आर बाल्की इस बार 'पैडमैन' के साथ अहम मुद्दे को लेकर सामने आए हैं। सभी को पता है कि इस फिल्म की कहानी तमिलनाडु निवासी अरुणाचलम मुरुगनाथम की जिंदगी पर आधारित है, जिन्हें महिलाओं को सस्ते सैनिटरी पैड उपलब्ध कराने के लिए काफी मशक्कत की। अक्षय कुमार ने अरुणाचलम का किरदार निभाने में कोई कमी नहीं छोड़ी है।

ये है फिल्म की कहानी

लक्ष्मीकांत चौहान (अक्षय कुमार) नाम का शख्स मध्य प्रदेश में रहता है। वह पूरे गांव की मदद करने में सबसे आगे रहता है। फिर भी लोग उसे पागल बुलाते हैं, क्योंकि वह अजीबोगरीब प्रयोग करता रहता है। उसकी शादी गायत्री (राधिका आप्टे) से करा दी जाती है। शादी के बाद लक्ष्मीकांत को पीरियड्स के बारे में पता चलता है।

एक तरफ जहां महिलाएं इस विषय पर बात नहीं करतीं और शर्म की वजह से कई बीमारियों का शिकार हो जाती हैं। वहीं दूसरी तरफ लक्ष्मीकांत पत्नी गायत्री को तकलीफ से गुजरता देख परेशान हो जाता है। फिर बहन, मां और पत्नी के लिए पैड बनाने की कोशिश करता है। जब घर और गांववालों को इसके बारे में पता चलता है तो सभी उसे गलत समझते हैं। इसी वजह से गायत्री उसे छोड़कर चली जाती है।

ये भी पढ़ें: मनोरंजन का तड़का लगाने लौटे लाफ्टर किंग, प्रोमो में दिखा धमाकेदार अंदाज

इसके बाद लक्ष्मीकांत अपना सपना पूरा करने के लिए शहर का रुख करता है। वहां उसकी मुलाकात परी (सोनम कपूर) से होती है। वह लक्ष्मीकांत को प्रेरित करती है। धीरे-धीरे वह सस्ते पैड्स बनाता है और समाज से लड़ते हुए महिलाओं को इसके लिए जागरुक करता है। पूरे गांव के साथ-साथ वह दुनिया के लिए मिसाल बन जाता है।

अगर बात करें एक्टिंग तो अक्षय को देखकर लगेगा ही नहीं कि वो अक्षय हैं। उन्होंने खुद को पूरी तरह से अरुणाचलम के किरदार में ढाल लिया है। राधिका आप्टे ने भी अपना किरदार बखूबी निभाया है। वहीं सोनम कपूर का एक टीचर के रूप में एक्टिंग काफी अच्छी है।

क्यों देखें फिल्म

डायरेक्शन और सिनेमेटोग्राफी बेहद शानदार है। कलाकारों ने दमदार एक्टिंग की है। फिल्म का संगीत काफी अच्छा है। गांव और शहर का लोकेशन देखने में काफी अच्छा लगता है। इसके अलावा 10 मिनट तक अमिताभ बच्चन भी आपको सरप्राइज देंगे। वहीं फिल्म के आखिर में अक्षय कुमार की स्पीच दिल छू लेती है।

फिल्म की कमजोरी

पैडमैन का पहला हिस्सा थोड़ा लंबा लगता है। कई जगह पर छिटपुट कमियां हैं। इसके अलावा गालियों का इस्तेमाल भी जरूरत से ज्यादा है।

अगर आप अक्षय कुमार के फैन हैं या फिर सामाजिक मुद्दे पर बनी फिल्में देखना पसंद करते हैं तो यह फिल्म देखने जरूर जाएं। बेहतरीन एक्टिंग और म्यूजिक के अलावा कहानी और शानदार डायरेक्शन आपको निराश करेगा।

यहां देखें फिल्म का ट्रेलर:

First Published: