जन आशीर्वाद यात्रा : देखिए मध्य प्रदेश CM शिवराज की किस तरह मदद कर रही हैं उनकी पत्नी साधना चौहान

| Last Updated:

भोपाल:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य में विधानसभा चुनाव को लेकर जन आशीर्वाद यात्रा कर रहे हैं। बस में हो रही इस पूरी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री की पत्नी साधना सिंह चौहान उनका पूरा साथ दे रही हैं। जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान साधना सिंह चौहान अपने पति और मुख्यमंत्री शिवराज के हरेक चीजों का ख्याल रख रही हैं। इस यात्रा के दौरान शिवराज की पत्नी साधना चौहान के बारे में हमें उनकी कुछ अनछूए पहलुओं का पता चला। साधना चौहान चुनावी प्रचार में साथ देने के अलावा अपने पति की पूरी मदद कर रही हैं।

साधना ने कहा कि मुख्यमंत्री के व्यस्ततम कार्यक्रम को लेकर उनके लिए पूरा घर का खाना आता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के सेहत का पूरा ख्याल रख रही हैं, पति हैं वे मेरे। पूरा खाना घर से आता है। हरी सब्जियां उनको पसंद है।

साधना ने कहा कि वे इस यात्रा के दौरान अपना खाना भी भूल जाते हैं तो उन्हें बुलाकर खिलाना पड़ता है। वे खाने का बिल्कुल ध्यान नहीं रखते हैं। उन्होंने हंसते हुए कहा, उनको खिलाना पड़ता है कि आओ अब खा लो, इससे थोड़ी एनर्जी मिलेगी। साधना ने हंसते हुए कहा कि वे मुख्यमंत्री की पत्नी नहीं शिवराज की पत्नी हैं।

बता दें कि मध्य प्रदेश विधानसभा से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूरे राज्य में जन आशीर्वाद यात्रा कर रहे हैं। इस यात्रा में मुख्यमंत्री राज्य के लोगों को फिर से बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) को राज्य में सरकार में लाने की अपील कर रहे हैं। राज्य में इसी साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

और पढ़ें : जन आशीर्वाद यात्रा : शिवराज ने किया खुलासा, MP के लोग क्यों उन्हें कहते हैं मामा

मुख्यमंत्री शिवराज की इस यात्रा में News Nation भी हिस्सा बना और हमारे सहयोगी ने जानकारी जुटाने की कोशिश की। सीएम की जन आशीर्वाद यात्रा की सबसे खास बात यह है कि इसमें शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह चौहान उनका पूरा साथ दे रही है।

#JanAshirwadYatra : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री @ChouhanShivraj की पत्नी साधना सिंह चौहान चुनावी यात्रा के लिए कर रही हैं हर तरीके से मदद, देखिए कैसे@BJP4MP #MadhyaPradesh #election pic.twitter.com/0b9TGSN38q

— News State (@NewsStateHindi) September 1, 2018

First Published: