अमित शाह पर ममता का पलटवार, बीजेपी की नौकर नहीं जो हर बयान का जवाब दूं

| Last Updated:

नई दिल्ली:

असम के नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। अमित शाह ने जहां ममता को चुनौती देते हुए कोलकाता जाने का ऐलान किया है, वहीं बनर्जी ने इस चुनौती का जवाब देने से इंकार कर दिया है।

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ' मैं बीजेपी की नौकर नहीं हूं जो उनके हर बयान का जवाब दूं। मैंने कोई सिविल वॉर जैसा स्टेटमेंट नहीं दिया है। मेरी चिंता उन 40 लाख लोगों को लेकर हैं जिनके नाम सूची में नहीं हैं। वे इस देश के परिवार के सदस्य हैं। वे लोग कई राज्यों से संबंध रखते हैं। वे लोग हमारे परिवार के सदस्य है। उन्हें लोगों को यहां से जाने के लिए नहीं कहना चाहिए।'

I am not BJP's servant to reply to any of their statements. I didn't say this (civil war remark), my concern is regarding the 40 lakh people whose names are not in the list (NRC). BJP is politically tensed because they know they won't come to power in 2019: WB CM Mamata Banerjee pic.twitter.com/LmT856XoGJ

— ANI (@ANI) August 1, 2018

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'बीजेपी राजनीतिक रूप से परेशान है क्योंकि वो जानती है कि 2019 में वो सत्ता में नहीं आनेवाली है।

और पढ़ें : NRC पर राजनीतिक घमासान तेज, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बंगाल जाने को लेकर सीएम ममता बनर्जी को दी चुनौती

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बंगाल में 11 अगस्त को रैली करने के बारे में बयान दिया है। इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'उन्हें जाने दीजिए। उन्हें वहां 365 दिन जाने दीजिए। बंगाल सभी के लिए है। बंगाल सभी का स्वागत करता है। यह उनकी पार्टी की समस्या है।'

बता दें कि अमित शाह ने बुधवार यानी आज कहा कि वह निश्चित रूप से कोलकाता जाएंगे, अगर ममता बनर्जी को उन्हें गिरफ्तार करवाना है तो वो करवा सकती हैं।

और पढ़ें : ममता बनर्जी ने कहा 'मैं प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवार नहीं, लेकिन बीजेपी को सत्ता से हटाना सबसे बड़ा मकसद'

First Published: