निपाह वायरस: चमगादड़ों की मौत से हिमाचल में फैला डर, केरल के 4 शहरों में ना जाने की सलाह

| Last Updated:

नई दिल्ली :

निपाह वायरस से बचाव के लिए केरल सरकार ने राज्य के लोगों को कोझिकोड, मलापुरम, वायनाड और कन्नूर में नहीं जाने की सलाह दी है।

स्वास्थ्य सचिव राजीव संदानंदन ने एडवाइजरी जारी कर कहा कि केरल के किसी भी हिस्से में ट्रेवल करना सुरक्षित है। लेकिन अगर ऐतिहात बरतना है कि तो इन चार राज्यों में जाने से बचे।

बयान में कहा गया, ' केरल के कोझिकोड में निपाह वायरस के इंफेक्शन के कुछ मामले सामने आये है, हालांकि यह संक्रमण स्थानीय तौर सीमित है। सभी मामले एक ही परिवार से जुड़े हैं।'

केरल में अब तक निपाह वायरस के कारण 10 लोगों की मौत हो गई है।

हिमाचल में मरे पाये गए 18 चमगादड़

हिमाचल के नाहन विधानसभा की पंचायत बर्मापापड़ी में बुधवार को एक स्कूल कैम्पस में स्थित एक पेड़ पर सालों से रह रहे चमगादड़ों में से अचानक ही कई मारे पाए गए। इससे लोगों में सनसनी फैल गई। घटना के बाद प्रशासनिक अमले ने मौके पर पहुंचकर मृत चमगादड़ों के सैंपल लिए हैं। इन्हें पुणे और जालंधर प्रयोगशालाओं में भेजा जा रहा है। इनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह का खुलासा हो पाएगा।

5 राज्यों में भी अलर्ट

सरकार ने केरल के अलावा 5 अन्य राज्यों में भी निपाह को लेकर सावधानी बरतने के लिए एडवाइजरी और अलर्ट जारी किए हैं। इनमें जम्मू-कश्मीर, गोवा, राजस्थान, गुजरात और तेलंगाना शामिल हैं। 

विशेषज्ञों की राय 

विशेषज्ञों के मुताबिक एक संक्रमण प्रकार के चमगादड़ से फैलती है। संक्रमित जीवों के साथ सीधे संपर्क से बचने के अलावा, जमीन पर गिरे फलों का उपभोग करने से बचना जरूरी है। यह स्थिति इसलिए भी मुश्किल हो जाती है, क्योंकि इस बीमारी के लिए अभी कोई टीका या दवा बाजार में उपलब्ध नहीं है।

इसे भी पढ़ें: निपाह पर तेलंगाना हुआ अलर्ट, केरल में अब तक 10 की मौत

First Published: