अपने डेब्यू वाले दिन इस भारतीय खिलाड़ी ने लिया संन्यास, 2007 वर्ल्ड कप में निभाया था बड़ा रोल

| Last Updated:

नई दिल्ली:

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज रुद्र प्रताप सिंह ने मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। उन्होंने इसके लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर का सहारा  लिया। अपने संन्यास की घोषणा करते हुए आर पी सिंह ने बड़ा ही भावुक संदेश लिखा। बता दें कि आज ही के दिन साल 2005 में आरपी सिंह ने जिम्बाब्वे के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था।

32 वर्षीय आरपी सिंह ने टि्वटर पर लिखा, 'आज मैं संन्यास का ऐलान करता हूं। मैं मेरे इस सफर को सफल बनाने वाले सभी साथियों को धन्यवाद कहता हूं।'

उन्होंने कहा, 'आज से 13 साल पहले 4 सितंबर 2005 को मैंने पहली बार भारतीय जर्सी पहनी। यह मेरी जिंदगी के सबसे खुशनुमा सफर में पहला कदम था।'

🙏 pic.twitter.com/VluMI8unxM

— R P Singh (@rpsingh) September 4, 2018

गौरतलब है कि आरपी सिंह ने अपने करियर में भारत के लिए 58 अंतर्राष्ट्रीय वनडे और 14 टेस्ट मैच खेलें हैं। उन्होंने भारत के लिए 10 अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच भी खेले हैं, जिनमें 2007 का टी-20 विश्व कप भी शामिल है। इस दौरान उन्होंने भारत के लिए कई बार संकटमोचक बन विकेट लेने का काम किया।

और पढ़ें: लखनऊ में पहली बार होगा इंटरनेशनल मैच, BCCI ने जारी की भारत-वेस्टइंडीज के बीच होने वाली सीरीज का कार्यक्रम 

आरपी ने टेस्ट क्रिकेट में 40 विकेट लिए। वहीं 58 वनडे में 5.48 रन प्रति ओवर से 69 विकेट लिए। टी-20 मैचों में उनके नाम कुल 15 विकेट हैं।

रुद्र प्रताप सिंह ने अपना एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 2005 में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला था। वहीं 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ कार्डिफ में उन्होंने अपना आखिरी एकदिवसीय मैच खेला था। वहीं उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में खेला। इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला।

क्रिकेट की और खबरों के लिए क्लिक करें

आरपी सिंह ने आईपीएल में डेक्कन चार्जर्स और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के लिए कुल 82 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 7.9 रन प्रति/ओवर की दर से 90 विकेट लिए।

First Published: